Sunday, March 3, 2024

स्वाति मालीवाल कौन हैं? जिन्हे आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा भेजने का फैसला किया है। स्वाति मालीवाल का पूरा परिचय जानें।

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल को राज्यसभा के आगामी में चुनावों में अपनी पार्टी का उम्मीदवार बनाया है। स्वाति मालीवाल कौन हैं? उनका पूरा परिचय (Introduction of Swati Maliwal) जानते हैं…

स्वाति मालीवाल कौन हैं? उनका पूरा परिचय जानें (Introduction of Swati Maliwal)

19 जनवरी को राज्यसभा की दिल्ली की तीन सीटों के चुनाव होने वाले हैं, इन तीनों सीटों पर फिलहाल आम आदमी पार्टी के ही कब्जा है। जिनमें संजय सिंह, नारायण दास गुप्ता तथा सुशील कुमार गुप्ता राज्यसभा के सांसद थे। दो सीटों के लिए आवाज भी आम आदमी पार्टी ने संजय सिंह और नारायण दास गुप्ता को ही उम्मीदवार बरकारा रखा है, जबकि तीसरी सीट के लिए सुशील कुमार गुप्ता की जगह स्वाति मालीवाल को उम्मीद पर बनाया है।

स्वाति मालीवाल दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष हैं, जो एक सामाजिक कार्यकर्ता भी है। वह लंबे समय से आम आदमी पार्टी से भी जुड़ी रही है और अक्सर आम आदमी पार्टी के समर्थन में खड़ी रहती हैं। वह महिलाओं के लिए आवाज उठाने के लिए भी जानी जाती हैं और महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर काफी सक्रिय भी रहती हैं। हालांकि केवल आम आदमी पार्टी के पक्ष में ही समर्थित मुद्दों को उठाने के कारण अक्सर उनकी आलोचना भी होती रहती है।

अपने इन्हीं सकारात्मक और नकारात्मक बातों से अक्सर खबरों में बनी रहती हैं। दिल्ली की राजनीति में वह एक जाना पहचाना चेहरा है। आम आदमी से जुड़ा उनका जुड़ाव जाहिर है। अब आम आदमी पार्टी ने उनको राज्यसभा को उम्मीदवार बनाकर यह बात पूरी तरह पक्की कर दी है, आईए जानते हैं, स्वाति मालीवाल कौन है?

स्वाति मालीवाल 

स्वाति मालीवाल वर्तमान समय में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष हैं, जिन्होंने अब फिलहाल दिल्ली महिला आयोग के अध्यक्ष पद से त्यागपत्र दे दिया है क्योंकि उन्हें राज्यसभा के लिए नामांकन भरना है। एक ही समय में प्रॉफिट के दो पदों पर वह नहीं रह सकती।

स्वाति मालीवाल प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता रही हैं। उनका जन्म 15 अक्टूबर 1984 को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में हुआ था। उनकी आरंभिक शिक्षा गाजियाबाद के एमिटी इंटरनेशनल स्कूल से हुई।

बाद में उन्होंने जेएसएस अकैडमी आफ टेक्निकल एजुकेशन से आईटी में बैचलर डिग्री भी प्राप्त की। आईटी में बैचलर डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने अपना करियर एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करके शुरू किया, लेकिन जॉब में अधिक दिनों तक उनका मन नहीं लगा और वह समाज सेवा से जुड़ गईं। वे परिवर्तन नामक एक सामाजिक संस्था से जुड़कर सामाजिक कार्य करने लगीं।

उस समय 2010-11 में अन्ना हजारे आंदोलन अपने चरम पर था। इसी कारण अरविंद केजरीवाल और उनके सहयोगियों द्वारा चलाई जा रही संस्था इंडिया अगेंस्ट करप्शन का अहम हिस्सा बन गईं।

जब 2012 में आम आदमी पार्टी का गठन हुआ, तब वह भी आम आदमी पार्टी से जुड़ीं और उसकी कार्यकर्ता बनीं। इसी कारण आम आदमी पार्टी ने दिल्ली महिला आयोग का उन्हें अध्यक्ष बनाया। वह अरविंद केजरीवाल के खास पसंदीदा लोगों में जानी जाती हैं।

अपने राजनीतिक करियर के दौरान उनकी मुलाकात आम आदमी पार्टी के ही एक कार्यकर्ता नवीन जयहिंद से हुई, जो आम आदमी पार्टी से जुड़े हुए थे और हरियाणा की आम आदमी पार्टी के संयोजक थे। नवीन जयहिंद से मुलाकात के बाद धीरे-धीरे दोनों की नजदीकियां बढ़ने लगी और 2018 में दोनों ने शादी कर ली। बाद में अपने पति नवीन जयहिंद से मनमुटाव के बाद 2020 में दोनों का तलाक हो गया।

स्वाति मालीवाल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार के रूप में भी काफी समय तक काम किया है। 2015 से वर्तमान समय तक वह दिल्ली की प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष रही थीं। वह दिल्ली महिला आयोग की सबसे कम उम्र की अध्यक्ष रह चुकी हैं।

विवादों से नाता

स्वाति मालीवाल का विवादों से भी नाता रहा है। उन पर भ्रष्टाचार के भी आरोप लगे हैं। इसके अलावा उन्होंने एक बार अपने पिता की भी आलोचना कर दी। उन्होने बताया कि बचपन में उन्हें उनके पिता उन पर जुल्म करते थे और उनका यौन शोषण करते थे। उनके पिता सेा में रह चुके थे और वर्तमान समय में दुनिया में नहीं हैं।

उनके अनुसार जब वे छोटी थी तो उनके पिता उन्हें बहुत मारते थे और उनकी चोटी पड़कर सर दीवा में मार देते थे। 2023 में अपने पिता की आलोचना करने से पहले 2016 में तक वह अपने पिता की जबरदस्त तारीफ भी कर चुकी हैं। कभी पिता की जबरदस्त तारीफ करना और उन पर गर्व करना और कभी अपने पिता को यौन उत्पीड़कबता देना उनको विवादों में घसीटता रहा है।

उन्होंने अपने पति नवीन जय हिंद तक की आलोचना की है, जब उनके पति ने महिला अधिकारों के संबंध में 2018 में एक बयान दे दिया था तो उन्होंने पति की निंदा कर दी थी।

स्वाति मालीवाल पर अक्सर एक पक्ष के रूप में सक्रिय रहने के भी आरोप लगाते रहे हैं, क्योंकि वह दिल्ली की आम आदमी पार्टी से जुड़ी है, इसीलिए वे महिला अधिकारों का नाम पर केवल वही मुद्दे उठाती हैं, जो उनकी पार्टी के हित में हूँ। दूसरी पार्टी की महिलाओं और उनके हितों वाले महिला अधिकारों पर वह बहुत अधिक सक्रिय होकर कार्य नहीं करती हैं।

स्वाति मालीवाल विवादों में एक बार तब भी आई जब उन्होंने दिल्ली में जनवरी 2023 के महीने में अपने साथ हुई एक छेड़छाड़ का वीडियो शेयर कर दिया। बाद में उनके वीडियो के आधार पर आरोपी को पकड़ तो लिया लेकिन पूरा वीडियो देखने पर ऐसा लग रहा था कि स्वाति मालीवाल ने जानबूझकर यह घटना को तिल का ताड़ बनाने कोशिश की थी इसलिए लोग उनकी मंशा पर भी सवाल उठा रहे थे।

अब वह फिलहाल आम आदमी पार्टी की राज्यसभा संसद की उम्मीदवार बन चुकी है और 19 जनवरी के बाद निश्चित रूप से राज्यसभा सांसद बन जाएंगी। आगे देखना होगा कि वह किस तरह सक्रिय रहती हैं।


नई पोस्ट की अपडेट पाने को Follow us on X.com (twitter) https://twitter.com/Mindians_In

नई पोस्ट की अपडेट पाने को Follow us on WhatsApp Channel https://whatsapp.com/channel/Mindians.in


नुपूर शिखरे-इरा खान की शादी हो गई। आमिर खान के दामाद नुपूर शिखरे कौन हैं?

 

Post topic: Swati Maliwal introduction, Swati Maliwal ke jeevan parichay, स्वाति मालीवाल जीवन परिचय, स्वाति मालीवाल जीवनी, दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष स्वाति मालीवाल

WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles