Sunday, March 3, 2024

छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय कौन हैं? पूरा परिचय जानिए।

Vishnu Deo Sai introduction – छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय कौन हैं? पूरा परिचय जानिए।

3 और 4 दिसंबर को पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के परिणाम आए थे। तीन राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी को भारी बहुमत मिला था तो एक राज्य तेलंगाना में कांग्रेस पार्टी को बहुमत प्राप्त हुआ।

4 दिसंबर को आए चुनाव परिणाम में उत्तर-पूर्व के राज्य मिजोरम में जोरम पीपुल्स मूवमेंट नामक पार्टी को बहुमत प्राप्त हुआ।

तेलंगाना में कांग्रेस पार्टी द्वारा रेवंत रेड्डी को मुख्यमंत्री बनाया जा चुका है। अब छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी ने विष्णु देव साय को छत्तीसगढ़ का छठा मुख्यमंत्री बनाया है। उनसे अजीत जोगी 2000 से 2003 तक छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री, रमन सिंह 2003 से 2018 छत्तीसगढ़ के दूसरे, तीसरे और चौथे मुख्यमंत्री तथा भूपेश बघेल 2018 से 2023 तक छत्तीसगढ़ के पाँचवे मुख्यमंत्री रह चुके हैं।

अब विष्णुदेव साय छत्तीसगढ़ के छठे मुख्यमंत्री होंगे। इस तरह छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री कौन होगा? इस प्रश्न का उत्तर मिल चुका है।

सब लोग विष्णुदेव साय के बारे में जानने को इच्छुक हैं कि विष्णुदेव सहायक कौन है, जिन्हें भाजपा ने छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री बनाया है।

विष्णुदेव साईं छत्तीसगढ़ के एक आदिवासी नेता हैं, जो कई वर्षों से भारतीय जनता पार्टी के साथ जुड़े हुए हैं। वह छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में 2020 से 2022 तक कार्य भी कर चुके हैं।

वह भारत की नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली में सरकार की केंद्रीय कैबिनेट 2014 से 2019 के बीच केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री रह चुके हैं।

विष्णुदेव साय का परिचय

विष्णुदेव साय जन्म 21 फरवरी 1964 को छत्तीसगढ़ राज्य के जशपुर जिले के बगिया नामक गाँव में हुआ था। उनके पिता एक किसान थे। उनके पिता का नाम रामप्रसाद साय और माता का नाम जशमनी देवी था।।

उनकी आरंभिक शिक्षा दीक्षा जशपुर के कुनकुरी स्थित लोयोला हायर सेकेंडरी विद्यालय से हुई जहाँ से उन्होंने दसवीं की परीक्षा पास की । 1991 में 27 वर्ष की आयु में उनका विवाह कौशल्या देवी से हुआ।

राजनीतिक करियर

उनके राजनीतिक जीवन की शुरूआत उनके ग्रह गाँव बगिया से ही हुई, जब वह बगिया के सरपंच बने।। उसके बाद उनका राजनीतिक सफर आरंभ हो गया। उन्होंने 1980 में ही भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ले ली थी और वह तब से निरंतर भारतीय जनता पार्टी के साथ जुड़े रहे।

वह दो बार तत्कालीन मध्य प्रदेश विधानसभा में विधायक भी रह चुके हैं, इसके अलावा वह चार बार लोकसभा सांसद रहे हैं। उन्होंने अपना पहला चुनाव 1990 में मध्य प्रदेश विधानसभा में कुनकुरी विधानसभा क्षेत्र से लड़ा था और चुनाव जीता। उसके बाद दोबारा फिर उन्होंने कुनकुरी विधासभा का चुनाव जीता और 1998 तक दो बार विधायक रहे।

1999 में उन्होंने अपना पहला लोकसभा चुनाव रायगढ़ से जीता और पहली बार लोकसभा सांसद बने। उसके बाद उन्होंने 2004, 2009 और 2014 में भी रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र से चार बार सांसद बनने का गौरव हासिल किया।

2014 में तीसरी बार सांसद बनने के बाद उन्हें मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री बनाया गया था। 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हे अपनी पार्टी बीजेपी से लोकसभा का टिकट नही मिला इस कारण वह चुनाव नही पड़ पाए।

वह 2023 के विधानसभा में पहली बार छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए विधायक चुने गए, इससे पहले वह कुनकुरी विधानसभा क्षेत्र से ही विधायक रह चुके हैं, लेकिन तब वह विधानसभा क्षेत्र मध्य प्रदेश राज्य में आता था।

विष्णुदेव साईं की पारिवारिक पृष्ठभूमि भी राजनीतिक रही है और उनके पिता, ताऊ तथा दादा आदि भी राजनीति से जुड़े रहे हैं। उनके दादा बुधनाथ साय तत्कालीन मध्यप्रांत विधानसभा में 1947 से 1952 तक मनोनीत विधायक भी थे।

उनके पिता के बड़े भाई यानि उनके ताऊ नरहरी प्रसाद साय जनसंघ के सदस्य थे और दो बार विधायक तथा एक बार सांसद भी रह चुके हैं। वह 1977 में जनता पार्टी सरकार में राज्य मंत्री के रूप में कार्य कर चुके हैं। इस तरह उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि राजनीतिक रही है और जो जनसंघ अथवा भारतीय जनता पार्टी से संबंधित रही है।

उन्होंने 1980 में ही भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन कर लिया था। उन्हें 2006 में पहली बार छत्तीसगढ़ का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। उन्हें 2011 में उन्हें दोबारा छत्तीसगढ़ का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया।

उसके बाद 2020 में उन्हें फिर तीसरी बार छत्तीसगढ़ का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया, जहां वह 2022 तक प्रदेश अध्यक्ष बने रहे। 2023 में उन्हें भाजपा की राष्ट्रीय कार्य समिति का सदस्य भी बनाया गया।

विष्णु देव आदिवासी समुदाय से संबंध रखते हैं। इसी कारण आदिवासी समुदाय में उनकी गहरी पकड़ है। छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बाद वह छत्तीसगढ़ के दूसरे आदिवासी मुख्यमंत्री होंगे।

 

Vishnu Deo Sai introduction


महंत बालकनाथ योगी कौन हैं, जिनका नाम राजस्थान के मुख्यमंत्री के लिए में चर्चा में है?

WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles