Sunday, June 23, 2024

इन तरीकों से करें शुद्ध या मिलावटी हल्दी की पहचान

हल्दी दैनिक जीवन में खानपान में उपयोग किया जाने वाला एक प्रमुख मसाला है। हर घर में हल्दी का प्रयोग जरूर होता है। यह रोज के खाने पड़ने वाला जरूरी मसाला है। आजकल बाजार में मिलावटी हल्दी की बहुत भरमार है। हल्दी का पाउडर मिलावटी आने लगा है, जो इसमें तरह-तरह के केमिकल और कृत्रिम रंग मिले होते हैं, जो सेहत के लिए बेहद नुकसान पहुंचा सकते हैं। मिलावटी हल्दी की पहचान (Identification of turmeric powder pure or adulterated) कैसे की जाए, इसके लिए कुछ टिप्स इस प्रकार हैं।

शुद्ध और मिलावटी हल्दी की पहचान के टिप्स (Identification of turmeric powder pure or adulterated)

पानी के घोल द्वारा मिलावटी हल्दी की पहचान

हल्दी पाउडर शुद्ध है या मिलावटी इसकी पहचान करने के लिए एक गिलास पानी ले और उसमें हल्दी पाउडर को मिला दें। पानी को घोले नहीं और ना ही उसमे चम्मच आदि डालकर हिलाएं। हल्दी पाउडर को अपने-आफ घुलने दें। यदि हल्दी पाउडर गिलास के तले में नीचे जाकर बैठ जाए और पानी हल्का पीले रंग का हो जाए तो समझने कि हल्दी शुद्ध है, लेकिन यदि हल्दी पाउडर पानी को गहरे पीले रंग का कर दे और पानी धुंधला पीला नजर आने लगे तो समझने कि हल्दी पाउडर में मिलावट है।

अल्कोहल द्वारा परीक्षण

मिलावटी हल्दी की पहचान करने के लिए हल्दी पाउडर लें और रबिंग एल्कोहल की कुछ मात्रा में इस पाउडर को मिला दें। यदि अल्कोहल का रंग लाल हो जाए तो उसे पता चलता है कि हल्दी में कृत्रिम रंगों की मिलावट है, यदि हल्दी पाउडर शुद्ध होगा तो वह अल्कोहल को लाल नहीं करेगा।

अपनी उंगलियां द्वारा रगड़कर हल्दी परीक्षण

अपनी उंगलियों के बीच में चुटकी भर हल्दी पाउडर ले और उंगलियां द्वारा रगड़ें। यदि आपकी उंगली पर हल्दी का हल्का सा रंग पड़ जाए तो समझ में हल्दी का शुद्ध है। यदि उंगलियों पर चमकीले गहरा पीला रंग नजर आने लगे तो समझें कि उसमें कृत्रिम रंगों की मिलावट है। शुद्ध हल्दी पाउडर हाथ पर गहरे पीले निशान एकदम से नहीं छोड़ता। उसे काफी समय लगाने के बाद ही हाथ पर पीला रंग दिखेगा। नकली हल्दी तुरंत ही हाथ पर पीले दाग छोड़ देगी।

स्वाद द्वारा परीक्षण

शुद्ध हल्दी पाउडर का स्वाद थोड़ा कड़वा और मिट्टी जैसा होता है, जबकि मिलावटी हल्दी पाउडर का स्वाद मीठा होगा, क्योंकि इसमें कृत्रिम केमिकल की मिलावट की जाती है। यदि हल्दी पाउडर का स्वाद मीठा लगे तो समझ लेना चाहिए कि वह मिलावटी है।

हाइड्रोक्लोरिक एसिड द्वारा परीक्षण

हल्दी में अक्सर मेटानिल येलो नामक कृत्रिम केमिकल रंग की मिलावट की जाती है। इसका पता लगाने के लिए एक टेस्ट ट्यूब या काँच की नली या किसी काँच के बर्तन में कुछ मात्रा में हल्दी पाउडर लें और उसमें हाइड्रोक्लोरिक एसिड की कुछ बूंदें डालें। फिर थोड़ा सा पानी डालकर टेस्ट ट्यूब को जोर से हिलाएं। यदि मिश्रित घोर गुलाबी या किसी दूसरे रंग का हो जाता है तो हल्दी पाउडर में मैटानिल येलो मिला हुआ है। अगर हल्दी पाउडर शुद्ध होगा तो वो गुलाबी, लाल या दूसरे किसी रंग (पीले रंग को छोड़कर) नहीं होगा।

टेस्ट ट्यूब बेबी में हल्दी पाउडर ले और उसमें थोड़ा सा पानी और हाइड्रोक्लोरिक एसिड की कुछ बंदे डाल दें। अगर मिश्रित घोल में बुलबुले दिखाई देते हैं तो समझ लें उसमें मिलावट की गई है।

साबुत हल्दी में मिलावट की पहचान

केवल हल्दी पाउडर में ही नहीं हल्दी के साबुत टुकड़ों में भी मिलावट की जाती है। इसका पता लगाने के लिए साबित हल्दी के टुकड़े को एक पेपर पर रखकर उसके ऊपर ठंडा पानी डाल दें। अगर पानी डालने के बाद हल्दी के टुकड़े से रंग पीला रंग निकालने लगे तो इससे पता चलता है कि उसमें रंगों के मिलावट की गई है। शुद्ध हल्दी के टुकड़ों पर पानी डालने से एकदम से पीला रंग नहीं निकलता है।

खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता की देखरेख करने वाली संस्था FSSAI ने शुद्ध हल्दी के टेस्ट का एक वीडियो जारी किया है, वो देखें….

https://www.fssai.gov.in


ये भी पढ़ें..

ये टिप्स अपनाएं तो नारियल का छिलका एकदम आसानी से उतर जाएगा।

WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles