Sunday, June 16, 2024

अंकुरित अनाज के अनोखे फायदे, अच्छी सेहत का राज हैं ये।

अंकुरित अनाज का अपना ही महत्व है। अंकुरित अनाज खाना शरीर के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक रहता है। आज हम शरीर को स्वास्थ्य बनाने के लिए अंकुरित अनाज (Benefits of sprouts) के फायदे के बारे में जानेंगे…

अंकुरित अनाज (Sprouts) के फायदे (Benefits of sprouts)

शरीर को स्वास्थ्य बनाने के लिए अंकुरित अनाज (Benefits of sprouts) का अपना ही महत्व है। स्प्राउट्स खाने का सबसे अच्छा समय समय है। रात के खाने से पहले या दूसरे शब्दों में, शाम के नाश्ते के समय और रात के खाने के समय के बीच अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) का सेवन करना बेहतर होता है। वैसे अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) लेने का सबसे बेहतर समय सुबह का ही माना गया है।  सबसे पहले हम जानेंगे की अंकुरित अनाज यानि स्प्राउट्स क्या होते हैं।

अंकुरित अनाज यानि स्प्राउट्स क्या होता है ?

अंकुरित अनाज यानी कि स्प्राउट्स ऐसे बीज होते हैं जिनसे छोटे- छोटे अंकुर निकलने शुरू हो जाते हैं। यह अंकुरण प्रक्रिया आमतौर पर कई घंटों तक अनाज या बीजों को भिगोने से शुरू होती है। अंकुरित होने पर अनाज में पाया जाने वाला स्टार्च-ग्लूकोज, फ्रक्टोज और माल्टोज शर्करा में बदल जाता है। इससे न केवल अनाज का स्वाद बढ़ता है, बल्कि इसके पोषक तत्वों और पाचक गुणों में भी वृद्धि होती है। यही कारण है कि साबुत अनाज की तुलना में अंकुरित ज्यादा पौष्टिक माने जाते हैं।

अंकुरित अनाज के नाम

वैसे तो अंकुरित अनाज कोई अनाज नहीं होता है। इसकी कई किस्में उपलब्ध हैं, जिनका उपयोग आप खुद को फिट और हेल्दी रखने के लिए कर सकते हैं।

अंकुरित अनाज में कई तरह के अनाज, फलियां, सब्जियों के बीज, नट्स आदि प्रयोग किये जाते हैं। इन्हें आप अंकुरित होने के बाद कच्चा या फिर पकाकर भी खा सकते हैं।

जैसे :- सेम, मटर, बादाम, मूली के बीज, अल्फाल्फा के बीज, कद्दू के बीज, तिल के बीज, सूरजमुखी के बीज, ब्रसेल्स, मूंग दाल, चना, मेथी, सोयाबीन, क्विनोआ।

अंकुरित अनाज में पाये जाने पोषक तत्व

अंकुरित आहार में क्लोरोफिल, विटामिन ए, बी, सी, डी और के, भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जोकि कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, मैगनीशियम, आयरन जैसे खनिजों लवणों का बेहतर स्त्रोत है। अंकुरित अनाज में फाइबर, फोलेट, ओमेगा- 3 फैटी एसिड भी पाया जाता है। इनमें खासतौर से विटामिन- सी, बी-कॉम्प्लेक्स, थायमिन, राइबोप्लेविन और नायसिन की मात्रा दोगुनी हो जाती है।

अंकुरित अनाज खाने के फायदे

अंकुरित अनाज हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसका उपयोग हमें कई तरह की बीमारियों से बचाता है।

आइए जानते हैं, अंकुरित अनाज को अपने आहार में शामिल करने के अनगिनत फायदों के बारे में…

मोटापे के लिए अंकुरित अनाज

अगर आप अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो अपने आहार में अंकुरित आहार जरूर शामिल करें। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जिसे खाने के बाद हमारा पेट काफी देर तक भरा रहता है और हम अतिरिक्त कैलोरी लेने से बच जाते हैं। अंकुरित अनाज में कैलोरी की मात्रा बहुत ही कम होती है, इसीलिए यह वजन घटाने में कारगर साबित होता है।

स्टैमिना बढ़ाने के लिए

स्टैमिना बढ़ाने का मतलब है शरीर में कमजोरी दूर करना, शारीरिक और मानसिक दोनों ही रूप से खुद को स्ट्रॉन्ग करना ताकि आप जो भी काम करें, बिना रुके और बिना थकावट के पूरा कर सकें। अंकुरित आहार एनर्जी का भंडार है। यही कारण है कि इसे सुबह के नाश्ते के अलावा कई लोग भोजन में भी नियमित तौर पर शामिल करते हैं, जिससे उनका स्टैमिना बना रहे।

आँखों के लिए

आँखों के लिए अंकुरित अनाज बहुत लाभदायक होते हैं। इसका सेवन करने से हमारी दृष्टि यानि कि देखने की क्षमता बेहतर होती है। आंखों से संबंधित रोगों से लड़ने के लिए स्प्राउट्स काफी मददगार साबित होते हैं।

बेहतर पाचन तंत्र

अंकुरित अनाज पाचन शक्ति बढ़ाने और उसे दुरस्त रखने का काम करते हैं। अंकुरण की प्रक्रिया के बाद अनाज में पाये जाने वाले कार्बोहाइड्रेट व प्रोटीन और भी ज्यादा पाचक व पौष्टिक हो जाते हैं। इससे आपका पाचन तंत्र भी सुचारु रूप से कार्य करता है।

रोगप्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पावर )बढ़ाएं

अंकुरित आहार को नियमित तौर पर लेने से रोगप्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है और शरीर के हानिकारक तत्वों को बाहर निकालने में मदद मिलती है।

मधुमेह रोग (डायबिटीज) में स्प्राउट्स

अगर आपको डायबिटीज यानि कि मधुमेह रोग है तो अंकुरित आहार लेना शुरू कर दें। कुछ अध्ययन बताते हैं कि अंकुरित अनाज कार्बोस की कुल मात्रा को कम करने में मदद करते हैं। साथ ही इसमें एमिलेज एंजाइम होता है जोकि ग्लूकोज को तोड़ने और पचाने में मदद करता है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि मधुमेह रोग (डायबिटीज) में मेथी को अंकुरित करके खाना अधिक फायदेमंद होता है इससे बीमारी को कंट्रोल किया जा सकता है।

त्वचा (स्किन) और बालों के लिए

अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) में ढेरों विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं, जोकि हमारी त्वचा (स्किन) और बालों को स्वस्थ (हेल्दी) रखने का काम करते हैं। अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) एक तरह से ब्लड प्यूरीफिकेशन का काम करते हैं, जिससे हमारी त्वचा (स्किन) बेदाग और निखरी नजर आती है। इसके सेवन से आप के बाल घने होंगे और उनका झड़ना भी कम हो जायेगा।

दिल के रोगों के लिए रामबाण

आपको शायद यह बात जानकर हैरानी होगी कि अंकुरित अनाज का सेवन करना दिल के लिए बहुत फ़ायदेमंद साबित होता है। जो लोग रोजाना अपने आहार में अंकुरित अनाज शामिल करते हैं, उन्हें अन्य लोगों के मुकाबले में हार्ट अटैक पड़ने की आशंका बहुत कम होती है। दरअसल, अंकुरित अनाज में मौजूद पोषक तत्व आपके रक्त में उपस्थित हाई कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर देता है, जिससे दिल से संबंधित रोग होने की आंशका कम हो सकती हैं।

अंकुरित अनाज कैंसर में फायदेमंद

अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स फ्री रैडिकल्स को नष्ट करते हैं ताकि त्वचा को किसी तरह का नुकसान न पहुंचे और त्वचा कैंसर की आशंका खत्म हो सके। यौन स्वास्थ्य के लिए स्प्राउट्स अंकुरित अनाज का नियमित सेवन करने से आपकी यौन समस्याओं को भी ठीक करने में मदद मिलती है। दरअसल, अंकुरित अनाज आपके जननांगों में रक्त प्रवाह में वृद्धि करने में मदद करते हैं।

प्रेगनेंट महिला के लिए अंकुरित अनाज के फायदे

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिलाओं को अंकुरित अनाज अपने आहार में शामिल करने का सुझाव दिया जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इससे नवजात शिशु की मानसिक और शारीरिक कमजोरियों को दूर करने में लाभ मिलता है। इसका उपयोग करने से शिशु के विकास में भी मदद मिलती है।

अनाज को अंकुरित करने का तरीका

अंकुरित अनाज यानि कि स्प्राउट्स सबसे सस्ता और पौष्टिक आहार होता है। अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) बनाने की विधि में किसी तरह की कोई रॉकेट साइंस नहीं लगती है और न ही ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। बस आप जिस अनाज को अंकुरित करना चाहते हैं, उसे रात भर पानी में भिगोकर रख दें। अगले दिन उसे चार – पांच बार पानी से अच्छी तरह धो लें और किसी गीले कपड़े में अच्छी तरह से लपेट कर रख दें।

ध्यान रहे कि कपड़े में नमी बरकरार रहे, अगर ऐसा नहीं है तो समय-समय पर पानी का छिड़काव करते रहें। अगले दिन ही आपके द्वारा गीले किये गये अनाज अंकुरित हो जायेंगे। सर्दियों के मौसम की अपेक्षा गर्मी के मौसम में बीजों को अंकुरित करना ज्यादा आसान होता है। इस प्रक्रिया से आप अपने लिए प्रतिदिन अंकुरित आहार तैयार कर सकते हैं।

अंकुरित अनाज खाते समय बरतें ये सावधानियां

अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) भिगोते समय यह ध्यान रखें कि अनाज में कहीं किसी तरह का घुन(कीड़ा) तो नहीं लगा है। खाने से पहले अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) को पानी से अच्छी तरह धो लें, इससे अनाज पर लगे फंगस या पेस्टीसाइड के कण साफ हो जायेंगे।

अंकुरित अनाज (स्प्राउट्स) को तेल में भूनने से उनकी पौष्टिकता नष्ट हो जाती है, इसलिए अगर इसे आप पका कर ही खाना चाहते हैं तो भाप पर पका कर लें। ज्यादा दिनों के अंकुरित अनाज खाने से आमतौर पर दो प्रकार के जीवाणु ई. कोलाई और साल्‍मोनेला के फैलने की आशंका होती है।

अगर अंकुरित अनाज कई दिनों से रखे हैं तो उसे खाने से पहले जांच लें, पीले और बदबूदार होने पर उन्हें भूलकर भी न खाएं, आप बीमार पड़ सकते हैं। बाजार में मिल रहे अंकुरित अनाज खरीदने से बेहतर है कि घर पर ही अनाज को अंकुरित करें।


Disclaimer
ये सारे उपाय इंटरनेट पर उपलब्ध तथा विभिन्न पुस्तकों में उपलब्ध जानकारियों के आधार पर तैयार किए गए हैं। कोई भी उपाय करते समय अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले लें। इन्हें आम घरेलू उपायों की तरह ही लें। इन्हें किसी गंभीर रोग के उपचार की सटीक औषधि न समझें।

ये भी पढ़ें…

संतरे के फायदे और गुण अनेक हैं, जान लीजिए।

नीम के फायदे ही फायदे – नीम एक घरेलु हकीम


हमारा WhatsApp Channel Follow करें…https://whatsapp.com/channel/Mindians.in
हमारा Facebook Page Follow करें…https://www.facebook.com/mindians.in
हमारा X handle (Twitter) Follow करें…https://twitter.com/Mindians_In
हमारा Telegram channel Follow करें…https://t.me/mindians1
WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles