Sunday, March 3, 2024

मुलेठी के गुण और लाभ एकदम कमाल के हैं।

मुलैठी एक अद्भुत जड़ी-बूटी है। इसके अनेक लाभ है। आइए इसके लाभ (Benefits of Licorice) को जानते हैं… 

मुलेठी के गुण और लाभ (Benefits of Licorice)

दोस्तों आपने बहुत सी जड़ी बूटियों क बारे में सुना होगा। आज में आपको एक ऐसी जड़ी बूटी के बारे में बताने जा रही हूँ, जो आपके घरों में ही होगी इसको हम सब मुलेठी के नाम से जानते हैं। मुलेठी एक बहुत ही गुणकारी जड़ी-बूटी है। आइए मुलैठी के गुण और लाभ (Benefits of Licorice) को जानते हैं।

मुलेठी के गुण और लाभ

आम बोलचाल की भाषा में मुलैठी को मीठी जड़’ के नाम से भी जाना जाता है। आमतौर पर लोग इसका इस्तेमाल सर्दी-जुकाम या खांसी में आराम पाने के लिए करते हैं। गले की खराश में इसका उपयोग करना  सबसे ज्यादा असरदार होता है। हालांकि मुलेठी के फायदे सिर्फ इतने ही नहीं हैं बल्कि इसका मुख्य इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने में किया जाता है। इस लेख में हम आपको मुलेठी के फायदे और सेवन के तरीकों के बारे में भी विस्तार से बता रहे हैं। मुलेठी के फायदों के बारे में  जानने से पहले ये जानना ज़रूरी है कि असल में मुलेठी है क्या ?

मुलेठी क्या है ?

मुलेठी एक झाड़ीनुमा पौधा होता है आमतौर पर इसी पौधे के तने को छाल सहित सुखाकर उसका उपयोग किया जाता है। इसके तने में कई औषधीय गुण होते हैं। इसका स्वाद मीठा होता है। यह दाँतों, मसूड़ों और गले के लिए बहुत फायदेमंद है। इसी वजह से आज के समय में कई टूथपेस्ट में मुलेठी का इस्तेमाल किया जाता है।

मुलेठी के फायदे और सेवन का तरीका

औषधीय दृष्टि से देखें तो मुलेठी कई रोगों में लाभकारी है। यह वात और पित्त दोष को कम करती है। शरीर के बाहरी हिस्सों की बात करें तो यह त्वचा रोगों और बालों के लिए फायदेमंद हैं। मुलेठी के प्रयोग से खून साफ़ होता है, बाल बढ़ते हैं और बुद्धि तेज होती है। इसके अलावा भी मुलेठी के फायदे कई हैं जिनके बारे  में हम आपको आगे बता रहे हैं।

सिरदर्द से आराम दिलाती है मुलेठी

अगर आप अकसर सिरदर्द से परेशान रहते हैं तो मुलेठी आपके लिए बहुत काम की चीज है। मुलेठी चूर्ण या मुलेठी पाउडर के एक भाग में इसका चौथाई भाग कलिहारी चूर्ण और थोड़ा सा सरसों का तेल मिलाएं। इसे सूंघने से सिरदर्द से आराम मिलता है।

मुलेठी बाल बढ़ाने में फायदेमंद

मुलेठी का उपयोग बालों को सही पोषण देने और बढ़ाने में भी किया जाता है। मुलेठी के क्वाथ से बालों को धोने से बालों तेजी से बढ़ते हैं। इसी तरह मुलेठी और तिल को भैंस के दूध में पीसकर सिर पर लेप लगाने से बालों का झड़ना बंद हो जाता है।

माइग्रेन के दर्द से आराम दिलाती मुलेठी

माइग्रेन के दर्द से परेशान रहते हैं तो आपको मुलेठी का उपयोग करना चाहिए। मुलेठी चूर्ण या मुलेठी पाउडर में शहद मिलाकर इसे नेजल ड्राप की तरह नाक में डालें। इससे माइग्रेन के दर्द से आराम मिलता है।

बालों के सफ़ेद होने से रोकथाम

बाल सफ़ेद होना एक आम समस्या है और आज कल ज्यादातर लोग बाल समय से पहले सफ़ेद होने से परेशान रहते हैं। मुलेठी के उपयोग से आप बालों को झड़ने और सफ़ेद होने से रोक सकते हैं। इसके लिए 50 ग्राम मुलेठी कल्क , 750 मिली आंवला स्वरस और 750 मिली तिल के तेल को मिलाकर पाक बना लें। नियमित रूप से इस तेल पाक की 1-2 बूँद नाक में डालने से असमय बाल सफ़ेद नहीं होते और बालों का झड़ना भी कम होता है।

आँखों के रोगों में मुलेठी के फायदे

आँखों में जलन या आँखों से जुड़ा कोई रोग होने पर भी मुलेठी का इस्तेमाल करने से फायदा पहुँचता है। इसके लिए मुलेठी के काढ़ा से आँखों को धोएं। इसके अलावा मुलेठी चूर्ण या मुलेठी पाउडर में बराबर मात्रा में सौंफ का चूर्ण मिलाएं। इस चूर्ण को सुबह शाम खाने से आँखों की जलन कम होती है और आंखों की रोशनी बढ़ती है।

कंजक्टीवाइटिस या आँख आना में मुलेठी के फायदे

मुलेठी का औषधीय गुण आँख आने पर उसके दर्द, जलन जैसे लक्षणों से आराम दिलाने में बहुत सहायता करती है। मुलेठी को पानी में पीसकर, उसमें रूई का फाहा भिगोकर आँखों पर बाँधने से आंखों की लालिमा कम होती है।

तिमिर या आँखों में सफ़ेद धब्बे की रोकथाम

मुलेठी और आँवले को पीसकर पानी में मिलाकर या उसके काढ़े से नहाने से या आंखों को धोने से पित्त कम होता है और आँखों के सफ़ेद धब्बों में भी मुलेठी से लाभ होता है।

पित्त से होने वाले कान के रोग में मुलेठी के फायदे

मुलेठी और द्राक्षा से पकाए हुए दूध को कान में डालने से पित्त के कारण होने वाले कान के रोग में लाभ होता है। मुलेठी के औषधीय गुण कान के बीमारियों में बहुत फायदेमंद होते हैं। नाक के रोगों से आराम में मुलेठी के फायदे 3-3 ग्राम मुलेठी और शुण्ठी में छह छोटी इलायची और 25 ग्राम मिश्री मिलाकर इसका काढ़ा बनाएं। इस काढ़े की 1-2 बूँद नाक में डालने से नाक के रोग ठीक होते हैं।

मुँह के छालों से आराम में मुलेठी के फायदे

मुँह के छालों से परेशान रहते हैं तो मुलेठी के औषधीय गुणों का फायदा क्यों नहीं उठाते हैं। अगर मुँह में छाले हो गए हैं तो मुलेठी के कुछ टुकड़े लें और उसमें शहद मिलाकर चूसें। इससे छाले जल्दी ठीक होते हैं। गला बैठने के इलाज में लाभदायक मुलेठी कभी-कभी गले में संक्रमण की वजह से गला बैठ जाता है और ऐसी हालत में आवाज भारी हो जाती है या आवाज नहीं निकलती है। मुलेठी को मुंह में लेकर चूसते रहने से गला बैठने की समस्या में आराम मिलता है। मुलेठी चूसने से गले के कई अन्य रोगों में भी जल्दी फायदा मिलता है।

मुलेठी के फायदे खांसी या सूखी खाँसी में

मुलेठी मुँह में रखकर देर तक चूसते रहने से खांसी से आराम मिलता है। अगर आपको सूखी खांसी है तो एक चम्मच मुलेठी को शहद के साथ मिलाकर दिन में 2-3 बार चाटकर खाएं। इसी तरह मुलेठी का काढ़ा बनाकर 20-25 मिली मात्रा का सुबह और शाम को सेवन करने से मुलेठी का पूरा फायदा मिलता है।

हिचकी से आराम दिलाती है मुलेठी

अगर आपको हिचकी आ रही है और बंद होने का नाम नहीं ले रही है। ऐसे में मुलेठी को कुछ देर मुँह में रखकर चूसें। मुलेठी चूसने से थोड़ी ही देर में हिचकी आना बंद हो जाता है। मुलेठी के फायदे सांसो से जुड़े रोगों में मुलेठी का काढ़ा बनाकर 10-15 मिली मात्रा में पीन से साँस से जुड़े रोग ठीक होते हैं।

दिल से जुड़ी बीमारियों में मुलेठी फायदेमंद

3-5 ग्राम मुलेठी और इतनी ही मात्रा में कुटकी चूर्ण मिलाएं। इस मिश्रण को 15-20 ग्राम मिश्री मिले हुए पानी के साथ रोजाना पिए। इसके सेवन से दिल से जुड़ी बीमारियों में राहत मिलती है।  पित्त दोष से होने वाले ह्रदय रोगों के लिए गंभारी, मुलेठी, शहद, शक्कर और कूट को मिलाकर  चूर्ण बना लें और इस चूर्ण से उलटी करवाएं।

पेट के अल्सर में फायदेमंद है मुलेठी

पेट का अल्सर एक गंभीर समस्या है और इसका इलाज कराना बहुत ज़रूरी है। मुलेठी को घरेलू उपायों के रुप में इस्तेमाल करके भी आप पेट के अल्सर को ठीक कर सकते हैं। इसके लिए एक चम्मच मुलेठी चूर्ण या मुलेठी पाउडर को एक कप दूध के साथ दिन में 3 बार सेवन करें। पेट में अल्सर होने पर मिर्च मसालों और तीखी चीजों से परहेज करें।

पेट दर्द से आराम दिलाती है मुलेठी

गलत खान-पान या खाई हुई चीज ठीक से ना पचने के कारण पेट में ऐंठन और दर्द होने लगता है। इससे आराम पाने के लिए एक चम्मच मुलेठी चूर्ण या मुलेठी पाउडर में शहद मिलाकर दिन में तीन बार सेवन करें। इससे पेट और आंतों की ऐंठन एवं दर्द से राहत मिलती है।

मुलेठी के फायदे पेट फूलने की समस्या

पेट फूलना आज कल के लोगों की एक आम समस्या है। खाया हुआ भोजन ठीक से ना पचने के कारण या शारीरिक व्यायाम ना करने की वजह से पेट फूलने की समस्या होती है। इससे आराम पाने के लिए 2-5 ग्राम मुलेठी चूर्ण) या मुलेठी पाउडर को पानी और मिश्री के साथ मिलाकर खाएं।

उलटी में खून आना रोकती है मुलेठी

अगर उलटी करते समय उसमें खून निकल रहा है तो मुलेठी का सेवन करें। मुलेठी और रक्त चन्दन चूर्ण दोनों की 1-2 ग्राम मात्रा को दूध में पीसकर, इसमें 50मिली दूध मिलाएं। इसकी थोड़ी-थोड़ी मात्रा पीने से उलटी में खून आना बंद होने लगता है।

खून की कमी में मुलेठी के फायदे

अगर शरीर में खून की कमी होने पर मुलेठी का सेवन करना बहुत फायदेमंद रहता है। इसके लिए एक चम्मच मुलेठी चूर्ण या मुलेठी पाउडर को शहद के साथ मिलाकर खाएं या 10-20 मिली मुलेठी काढ़े में शहद मिलकर लें |

मूत्र में जलन से रोकथाम मुलेठी के फायदे

अगर आपको पेशाब करते समय जलन हो रही है तो एक चम्मच मुलेठी चूर्ण को एक कप दूध के साथ सेवन करें। इससे पेशाब में होने वाली जलन कम हो जाती है।

यूरिनरी रिटेंशन से बचाव

मुलेठी, दारुहल्दी और एर्वारुबीज के चूर्ण की बराबर मात्रा को मिलाकर दिन में तीन बार तण्डुलोदक के साथ मिलाकर पिए। इसके सेवन से यूरिनरी रिटेंशन की समस्या में आराम मिलता है।

मुलेठी के इस्तेमाल से स्तनों में दूध बढ़ाता है

प्रसव के बाद बच्चों के लिए माँ का दूध सबसे ज्यादा फायदेमंद रहता है। कुछ महिलाओं में स्तनपान के दौरान दूध कम बनता है। ऐसी महिलाओं को मुलेठी का सेवन करना चाहिए। मुलेठी स्तनों में दूध बढ़ाने में मदद करती है। इसके लिए 2 चम्मच मुलेठी चूर्ण और 3 चम्मच शतावर चूर्ण को एक कप दूध में उबालें। जब उबलता हुए दूध पककर आधा हो जाए तो इसे आंच से उतार लें। इसमें से आधा सुबह और बाकी आधा शाम को एक कप दूध में मिलाकर पिएं। इसके अलावा 100 मिली दूध में 2-4 ग्राम मुलेठी और 5-10 ग्राम मिश्री मिलाकर माँ को रोजाना सुबह शाम पिलाने से स्तनों में दूध ज्यादा बनता है।

माहवारी में होने वाले अधिक रक्तस्राव से आराम

अगर माहवारी के दिनों में बहुत ज्यादा खून निकल रहा है तो ऐसे में मुलेठी के सेवन से ब्लीडिंग को कम किया जा सकता है। इसके लिए 1-2 ग्राम मुलेठी चूर्ण में 5-10 ग्राम मिश्री मिलाकर चावल के धोवन (तण्डुलोदक) के साथ पीसकर पिएं।

घाव या अल्सर के दर्द से आराम

किसी चीज से चोट लग जाने पर या अल्सर के दर्द से जल्दी राहत पाने के लिए मुलेठी का सेवन करना चाहिए। मुलेठी चूर्ण को घी में मिलाकर थोड़ा गर्म करके घाव या अल्सर वाली जगह पर लगाने से दर्द से जल्दी आराम मिलता है। इसी तरह फोड़ों पर मुलेठी का लेप लगाने से वे जल्दी पककर फूट जाते हैं।

शरीर की कमजोरी दूर करने में मुलेठी के फायदे

अगर आप बहुत कमजोरी महसूस कर रहे हैं तो मुलेठी का सेवन करें। एक चम्मच मुलेठी चूर्ण में आधा चम्मच शहद और एक चम्मच घी मिलाकर एक कप दूध के साथ सुबह शाम रोजाना 5-6 हफ़्तों तक सेवनकरें। इसका सेवन करने से शरीर में बल बढ़ता है।

शरीर की दुर्गंध दूर करने में सहायक

अगर आपके शरीर से पसीने की तेज दुर्गंध आती है तो मुलेठी की मदद से आप इस दुर्गंध से छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए मुलेठी को पीसकर शरीर में लगाएं। ऐसा करने से पसीने की बदबू दूर हो जाती है।

मिरगी रोग में फायदेमंद

मुलेठी के एक चम्मच महीन चूर्ण को घी में मिलाकर दिन में ३ बार सेवन करने से मिरगी में लाभ होता है। इसके अलावा 5 ग्राम मुलेठी को पेठे के रस में महीन पीसकर ३ दिन तक खाने से मिरगी में आराम मिलता है।

मुलेठी के फायदे सेक्स क्षमता बढ़ाने में

मुलेठी में कामोत्तेजक गुण पाए जाते हैं। जिन लोगों की सेक्स की इच्छा में कमी होती है उन्हें इसका सेवन करना चाहिए। इसके लिए 2-4 ग्राम मुलेठी चूर्ण में घी और शहद मिलाकर दूध के साथ पीने से कामोत्तेजना और सेक्स क्षमता में बढ़ोतरी होती है।

मुलेठी की खुराक

सामान्य तौर पर 3-5 ग्राम मुलेठी चूर्ण के सेवन की सलाह दी जाती है। अगर आप किसी रोग के इलाज के लिए मुलेठी का सेवन करना चाहते हैं तो आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह के अनुसार ही इसका सेवन करें। मुलेठी के गुण और लाभ – कमाल के हैं। आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट में अपना अनुभव शेयर करें।

Disclaimer
ये सारे उपाय इंटरनेट पर उपलब्ध तथा विभिन्न पुस्तकों में उपलब्ध जानकारियों के आधार पर तैयार किए गए हैं। कोई भी उपाय करते समय अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले लें। इन्हें आम घरेलू उपायों की तरह ही लें। इन्हें किसी गंभीर रोग के उपचार की सटीक औषधि न समझें।

ये भी पढ़ें…

दालचीनी के गुण और उपयोग – दालचीनी के अनोखे फायदे जानिए।

लौंग : छोटी सी मगर, लौंग के फायदे बड़े-बड़े

WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles