Thursday, April 25, 2024

पुरुषों के वनडे वर्ल्ड कप क्रिकेट के सभी 13 वर्ल्डकप का पूरा इतिहास जानें।

1975 से शुरु हुए पुरुषों के वनडे वर्ल्ड कप क्रिकेट के 13 संस्करण हो चुकें हैं। इन सभी संस्करणों में कौन सी टीम कब चैंपियन बनी? सभी वनडे वर्ल्ड कप का क्या इतिहास (All one-day cricket world cup history) है आइए जानते हैं…

वनडे क्रिकेट वर्ल्डकप का पूरा इतिहास (All one-day cricket world cup history)

5 अक्टूबर 2023 से भारत में वनडे क्रिकेट वर्ल्ड कप का 13वां संस्करण खत्म हुआ। आस्ट्रेलिया ने फाइनल में भारत को हराकर 6वीं बार वनडे वर्ल्ड कप जीता। कुल मिलाकर पुरुष क्रिकेट के 13 वर्ल्ड कप हो चुके हैं। क्रिकेट के इन 13 वर्ल्ड कप में 6 वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया ने 2-2 वर्ल्ड कप भारत और वेस्टइंडीज ने तथा श्रीलंका, पाकिस्तान और इंग्लैंड ने 1-1 वर्ल्ड कप जीता थे।

क्रिकेट के वनडे वर्ल्ड कप की यात्रा कैसे आरंभ हुई? कौन सा वर्ल्ड कप किसने और कब जीता? किन-किन देशों ने अब तक वर्ल्ड कप में भाग लिया है। वर्ल्ड कप के पूरे इतिहास (all one-day cricket world cup history) का एक आकलन करते हैं…

वनडे वर्ल्ड कप कब शुरु हुआ?

क्रिकेट के वर्ल्ड कप का यह सिलसिला 1975 में आरंभ हुआ थास जो अब 13वें वर्ल्ड कप के रूप में 2023 तक आ पहुँचा। अब अगला यानि 14वां वनडे वर्ल्ड कप दक्षिणी अफ्रीका, जिम्बॉब्वे और नामीबिया में संयुक्त रूप से आयोजित किया जाएगा।

वनडे क्रिकेट का सबसे पहला वर्ल्ड कप 1975 में हुआ था। यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पहला सबसे बड़ा टूर्नामेंट था। वनडे क्रिकेट कुछ वर्षों पहले ही लोकप्रिय होना शुरू हुआ था, जब लगभग 5 वर्ष पहले की 1971 में 5 जनवरी 1971 को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच पहला एकदिवसीय यानी वनडे मैच खेला गया था। तब से वनडे मैच धीरे-धीरे अपनी लोकप्रियता प्राप्त करने लगा और फिर आईसीसी द्वारा क्रिकेट का वनडे वर्ल्ड कप आजोजित कराने करने का निर्णय लिया गया।

पहला वनडे वर्ल्ड कप (1st One-day World-cup)│इंग्लैंड-1975

पहला वनडे वर्ल्ड कप 1975 में इंग्लैंड में खेला गया था। पहले वनडे वर्ल्ड कप को प्रूडेंशियल कप के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इंग्लैेड की प्रूडेंशियल इंश्योरेंश कंपनी इस वर्ल्ड कप की मुख्य प्रायोजक थी।

पहला आईसीसी वर्ल्ड कप जून 1 जून 1975 से 21 जून 1975 के बीच में इंग्लैंड में आयोजित किया गया। पहले वनडे वर्ल्ड कप में कुल आठ देशों ने भाग लिया था। उस समय क्रिकेट में केवल 6 देश ही टेस्ट क्रिकेट खेलते थे। इसीलिए पहले वनडे वर्ल्ड कप में सभी छह टेस्ट मैच खेलने वाले देशों ने भाग लिया। यह टेस्ट मैच खेलने वाले देश के भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज थे। इन छह टेस्ट मैच खेलने वाले देशों के अलावा दो एसोसिएट सदस्य देशों ने भी पहले वनडे वर्ल्ड कप में भाग लिया। यह देश थे, श्रीलंका और ईस्ट अफ्रीका थे।

पहले वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाली 8 टीमें इस प्रकार थीं..

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. इंग्लैंड
  4. न्यूजीलैंड
  5. वेस्टइंडीज
  6. पाकिस्तान
  7. श्रीलंका
  8. पूर्वी अफ्रीका

इस तरह पहले वनडे वर्ल्ड कप में 8 देशों ने भाग लिया। सभी 8 देशों को चार-चार टीमों के ग्रुप ए और ग्रुप बी में बांटा गया।

ग्रुप Aग्रुप B
भारतऑस्ट्रेलिया
इंग्लैंडपाकिस्तान
न्यूजीलैंडवेस्टंडंडीज
ईस्ट अफ्रीकाश्रीलंका

उस समय वनडे क्रिकेट 60 ओवर का मैच होता था, यानी पूरे मैच में दोनों टीमों के साथ साथ कुल 120 ओवर फेंके जाते थे। इसलिए पहला वनडे वर्ल्ड कप 60 ओवर के मैच वाला वनडे वर्ल्ड कप था।

इस वनडे वर्ल्ड कप में हर टीम को अपने ग्रुप की बाकी तीनों टीमों से एक-एक मैच खेलना था। दोनों ग्रुप की टॉप दो टीमो को सेमीफाइनल में पहुंचना था। ग्रुप ‘A’ में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड ने टॉप किया तो ग्रुप ‘B’ में ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज ने टॉप किया।

भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और ईस्ट अफ्रीका ये चारों टीमें ग्रुप मैचों के चरण में ही बाहर हो गईं और सेमीफाइनल में नहीं पहुंच पाईं।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1इंग्लैंड330012
2न्यूज़ीलैंड32108
3भारत31204
4पूर्वी अफ़्रीका30300

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1वेस्टइंडीज330012
2ऑस्ट्रेलिया32108
3पाकिस्तान31204
4श्रीलंका30300

ग्रुप ‘A’ के मैचों का संक्षिप्त विवरण

ताऱीखटीमवेन्यूस्कोरप्लेयर ऑफ दी मैचपरिणाम
7 जून 1975इंग्लैंड—भारतलॉर्ड्स, लंदनइंग्लैंड 334/4 (60 ओवर) भारत 132/3 (60 ओवर)डेनिस एमिस (इंग्लैंड)इंग्लैंड ने 202 रनो से भारत को हराकर मैच जीता।
7 जून 1975न्यूजीलैंड—ईस्ट अफ्रीकाएजबेस्टन, बर्मिघमन्यूज़ीलैंड 309/5 (60 ओवर) पूर्वी-अफ़्रीका 128/8 (60 ओवर)ग्लेन टर्नर (न्यूजीलैंड)न्यूजीलैंड 181 रनों से जीता
11 जून 1975इंग्लैंड-न्जूजीलैंडट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघमइंग्लैंड 266/6 (60 ओवर) न्यूज़ीलैंड 186 (60 ओवर)कीथ फ्लेचर (इंग्लैंड)इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को 80 रनों से हराया।
11 जून 1975भारत-पूर्वी अफ्रीकाहेडिंग्ले, लीड्सपूर्वी अफ़्रीका 120 (55.3 ओवर) भारत 123/0 (29.5 ओवर)फारुख इंजीनियर (भारत)भारत 10 विकेट से जीता
14 जून 1975इंग्लैंड—पूर्वी अफ्रीकाएजबेस्टन, बर्मिंघमइंग्लैंड : 290/5 (60 ओवर) पूर्वी अफ़्रीका 94/10 (52.3 ओवर)जॉन स्नो (इंग्लैंड)इंग्लैंड 196 रनों से जीता
14 जून 1975भारत—न्यूजीलैंडओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टरभारत  230 (60 ओवर) न्यूज़ीलैंड  233/6 (58.5 ओवर)ग्लेन टर्नर (न्यूजीलैंड)न्यूजीलैंड 4 विकेट से जीता

ग्रुप ‘B’ के मैचों का संक्षिप्त विवरण

तारीखटीमवेन्यूस्कोरप्लेयर ऑफ दि मैचपरिणाम
7 जून 1975ऑस्ट्रेलिया—पाकिस्तानहेडिंग्ले , लीड्सऑस्ट्रेलिया 278/7 (60 ओवर) पाकिस्तान 205 (53 ओवर)डेनिस लिली (ऑस्ट्रेलिया)ऑस्ट्रेलिया 73 रन से जीता
7 जून 1975वेस्टइंडीज—श्रीलंकाओल्ड ट्रैफर्ड , मैनचेस्टरश्रीलंका 86 (37.2 ओवर) वेस्टइंडीज 87/1 (20.4 ओवर)बर्नार्ड जूलियन (वेस्टइंडीज)वेस्टइंडीज 9 विकेट से जीता
11 जून 1975ऑस्ट्रेलिया—श्रीलंकाओवल, लंदनऑस्ट्रेलिया 328/5 (60 ओवर) श्रीलंका 276/4 (60 ओवर)एलन टर्नर (ऑस्ट्रेलिया)ऑस्ट्रेलिया 52 रन से जीता
11 जून 1975पाकिस्तान—वेस्टइंडीजएजबेस्टन , बर्मिंघममैचपाकिस्तान  266/7 (60 ओवर) वेस्टइंडीज 267/9 (59.4 ओवर)सरफराज नवाजवेस्टइंडीज 1 विकेट से जीता
14 जून 1975ऑस्ट्रेलिया-वेस्टइंडीजओवल, लंदनऑस्ट्रेलिया 192 (53.4 ओवर), वेस्टइंडीज़ 195/3 (46 ओवर)एल्विन कालीचरण (वेस्टइंडीज)वेस्टइंडीज ने 7 विकेट से जीत दर्ज की
14 जून 1975पाकिस्तान—श्रीलंकाट्रेंट ब्रिज, नॉंघमपाकिस्तान 330/6 (60 ओवर) श्रीलंका 138 (50.1 ओवर)जहीर अब्बास (पाक)पाकिस्तान 192 रनों से जीता

सेमीफाइनल में 4 टीमें पहुंची। ग्रुप ए से इंग्लैंड और न्यूजीलैंड तथा ग्रुप बी से ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज। पहला सेमीफाइनल 18 जून को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच तथा दूसरा सेमीफाइनल 18 जून को ही वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया।

सेमीफाइनल

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरप्लेयर ऑफ दि मैचपरिणाम
पहला सेमीफाइनल18 जून 1975ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैडहेंडिग्ले, लीड्सइंग्लैंड 93/10 (36.2 ओवर) ऑस्ट्रेलिया 94/6 (28.4)गैरी गिल्मर (ऑस्ट्रेलिया)ऑस्ट्रलिया ने 4 विकेट से मैच जीता
दूसरा सेमीफाइनल18 1975वेस्टइंडीज-न्यूजीलैंडओवल, लंदनन्यूजीलैंड 158/10 (52.2) वेस्टइंडीज 159/5 (40.1)एल्विन कालीचरण (वेस्टइंडीज)वेस्टइंडीज ने 5 विकेट से न्यूजीलैंड को हराया

फाइनल

ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को और वेस्टइंडीज ने न्यूजीलैंड को हराकर फाइनल में जगह बनाई। पहले वर्ल्ड कप का फाइनल 21 जून 1975 को लंदन के लार्ड्स मैदान पर खेला गया।

फाइनल मैच में वेस्टइंडीज ने पहले बैटिंग करते हुए 60 ओवर में कुल 8 विकेट खोकर 291 रन बनाए। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम 58.4 ओवर में केवल 274 रन ही बना सकी। इस तरह वेस्टइंडीज ने ऑस्ट्रेलिया को 17 रन से हराकर क्रिकेट के पहले वर्ल्ड कप में पहला चैंपियन होने का गौरव प्राप्त किया।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरप्लेयर ऑफ दि मैचपरिणाम
फाइनल25 जून 1975ऑस्ट्रेलिया-वेस्टइंडीजलार्ड्स, लंदनवेस्टइंडीज 291/8 (60) ऑस्ट्रेलिया 174/10 (58.4)क्लाइव लॉयड (वेस्टइंडीज)वेस्टइंडीज ने ऑस्ट्रेलिया को 17 रन से हराकर पहला वर्ल्ड कप जीता।

पहले वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 1 जून 1975 से 21 जून 1975
  • मेजबान देश इंग्लैंड
  • भाग लेने वाले देश 8
  • कुल मैच खेले गए 15
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट घोषित नही
  • सबसे अधिक रन 333 – ग्लेन टर्नर (न्यूजीलैंड)
  • सबसे अधिक विकेट 11 – गैरी गिल्मर (ऑस्ट्रेलिया)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन वेस्टइंडीज


दूसरा वनडे वर्ल्ड कप (2nd One-day World-cup)│इंग्लैंड-1979

वनडे क्रिकेट का दूसरा वर्ल्ड कप भी इंग्लैंड में ही खेला गया। क्रिकेट का दूसरा वर्ल्ड कप को भी प्रूडेंशियल वर्ल्ड कप के नाम से जाना जाता है क्योंकि ये कंपनी ही वनडे क्रिकेट वर्ल्ड कप के दूसरे संस्करण की प्रायोजक थी।

वनडे क्रिकेट का दूसरा वर्ल्ड कप 9 जून 1979 से 23 जून 1979 के बीच इंग्लैंड में लगातार दूसरी बार आयोजित किया गया। इस टूर्नामेंट में भी 8 टीमों ने भाग लिया। 7 टीमें पहले वर्ल्ड कप वाली ही थीं और एक टीम नई थी। नई टीम कनाडा थी, जो पूर्वी अफ्रीका के जगह पर दूसरे वर्ल्ड कप में खेल रही थी।

दूसरे वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाली 8 टीमें इस प्रकार थीं..

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. इंग्लैंड
  4. न्यूजीलैंड
  5. वेस्टइंडीज
  6. पाकिस्तान
  7. श्रीलंका
  8. कनाडा

दूसरा वर्ल्ड कप का प्रारूप भी पहले जैसा ही था। जिसमें सभी टीमों को ग्रुप ए और ग्रुप बी दो ग्रुपों में बांटा गया।

ग्रुप Aग्रुप B
ऑस्ट्रेलियाभारत
इंग्लैंडवेस्टइंडीज
पाकिस्तानन्यूजीलैंड
कनाडाश्रीलंका

दूसरे वनडे वर्ल्ड कप का प्रारूप भी पहले वनडे वर्ल्ड कप जैसा ही था, जिसमें और दो ग्रुप में चार चार टीमें थी। यानी हर टीम को अपनी ग्रुप की बाकी तीनों टीमों से एक-एक मैच खेलना था।

ग्रुप स्टेज के मैचों का आरंभ 9 जून 1975 से हुआ ग्रुप ए में इंग्लैंड तथा पाकिस्तान ने अपने ग्रुप में टॉप किया तथा सेमीफाइनल में जगह बनाई। ग्रुप बी में वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड ने टॉप किया तथा सेमीफाइनल में जगह बनाई। भारत, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और कनाडा ये चारों टीमें ग्रुप स्टेज के मैचों में निचले स्थान पर रहकर सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो गईं।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1 इंग्लैंड330012
2 पाकिस्तान32108
3 ऑस्ट्रेलिया31204
4 कनाडा30300

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1 वेस्ट इंडीज320010
2 न्यूज़ीलैंड32108
3 श्रीलंका31106
4 भारत30300

ग्रुप ‘A’ के मैचों का संक्षिप्त विवरण

तारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
9 जून 1979ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंडलॉर्ड्स, लंदन, इंग्लैंडऑस्ट्रेलिया 159/9 (60 ओवर), इंग्लैंड 160/4 (47.1 ओवर)इंग्लैंड 6 विकेट से जीता
9 जून 1979कनाडा-पाकिस्तानहेडिंग्ले, लीड्स, इंग्लैंडकनाडा 139/9 (60 ओवर), पाकिस्तान 140/2 (40.1 ओवर)पाकिस्तान 8 विकेट से जीता
13-14 जून 1979पाकिस्तान-ऑस्ट्रेलियाट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघम, इंग्लैंडपाकिस्तान 286/7 (60 ओवर) ऑस्ट्रेलिया 197 (57.1 ओवर)पाकिस्तान 89 रन से जीता
13-14 जून 1979कनाडा-इंग्लैंडओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टर, इंग्लैंडकनाडा 45 (40.3 ओवर) इंग्लैंड 46/2 (13.5 ओवर)इंग्लैंड 8 विकेट से जीता
16 जून 1979कनाडा-ऑस्ट्रेलियाएजबेस्टन, बर्मिंघम, इंग्लैंडकनाडा 105 (33.2 ओवर), ऑस्ट्रेलिया 106/3 (26 ओवर)ऑस्ट्रेलिया 7 विकेट से जीता
16 जून 1979पाकिस्तान-इंग्लैंडहेडिंग्ले, लीड्स, इंग्लैंडइंग्लैंड 165/9 (60 ओवर), पाकिस्तान 151 (56 ओवर)इंग्लैंड 14 रन से जीता

ग्रुप ‘B’ के मैचों का संक्षिप्त विवरण

तारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
9 जून 1979भारत-वेस्टइंडीजएजबेस्टन, बर्मिंघम, इंग्लैंडभारत 190 (53.1 ओवर), वेस्टइंडीज 194/1 (51.3 ओवर)वेस्टइंडीज ने 9 विकेट से जीता
9 जून 1979श्रीलंका-न्यूजीलैंडट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघम, इंग्लैंडश्रीलंका 189 (56.5 ओवर), न्यूज़ीलैंड 190/1 (47.4 ओवर)न्यूजीलैंड ने 9 विकेट से जीत हासिल की
13-15 जून 1979श्रीलंका-वेस्टइंडीजओवल, लंदन, इंग्लैंडश्रीलंका 0/0 वेस्ट इंडीज 0/0मैच रद्द कर दिया गया
13 जून 1979भारत-न्यूजीलैंडहेडिंग्ले, लीड्स, इंग्लैंडभारत  182 (55.5 ओवर), न्यूजीलैंड 183/2 (57 ओवर)न्यूजीलैंड 8 विकेट से जीता
16-18 जून 1979भारत-श्रीलंकाओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टर, इंग्लैंडश्रीलंका 238/5 (60 ओवर), भारत 191 (54.1 ओवर)श्रीलंका ने 47 रन से जीता
16 जून 1979इंग्लैंड-वेस्टइंडीजट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघम,वेस्टइंडीज 244/7 (60 ओवर), इंग्लैंड 212/9 (60 ओवर)वेस्टइंडीज ने 32 रनों से जीत हासिल की

सेमीफाइनल

दूसरे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली 4 टीमें इंग्लैंड, पाकिस्तान, वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड थीं। वर्ल्ड कप का

पहला सेमीफाइनल 20 जून को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया, जिसमें इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को 9 रन से हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

दूसरा सेमीफाइनल वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के बीच लंदन के ओवल मैदान पर खेला गया, जिसमें वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान पर 40 रनों से जीत हासिल की और लगातार दूसरी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में अपनी जगह बनाई।

दूसरे वर्ल्डकप का सेमीफाइनल मैचों का स्कोरकार्ड

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल20 जून 19750इंग्लैंड-न्यूजीलैंडओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टरइंग्लैंड 221/8 (60) न्यूजीलैंड 212/9 (60)इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को 9 रन से हराया
दूसरा सेमीफाइनल20  जून 1975वेस्टइंडीज-पाकिस्तानद ओवल, लंदनवेस्टइंडीज 293/6 (60) पाकिस्तान 250/10 (56.2)वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान को 43 रन से हराया

फाइनल

वर्ल्ड कप का फाइनल मैच 23 जून 1979 को वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच लंदन के ऐतिहासिक लार्ड्स मैदान पर खेला गया।

फाइनल मैच में वेस्टइंडीज ने पहले बैटिंग करते हुए 60 ओवर में 9 विकेट खोकर 286 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड की टीम 51 ओवर में 194 रन पर ऑल आउट हो गई।

इस तरह वेस्टइंडीज ने लगातार दूसरी बार वनडे क्रिकेट का वर्ल्ड चैंपियन बनने का गौरव प्राप्त किया। उसने लगातार दूसरी बार वर्ल्ड कप जीता।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल23 जून 1979वेस्टइंडीज-इंग्लैंडलार्ड्स, लंदनवेस्टइंडीज 286/9 (60) इंग्लैंड 194/10 (51)वेस्टइंडीज इंग्लैंड को 92 रन से हराकर दूसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बना

दूसरे वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 9 जून 1979 से 23 जून 1979 तक
  • मेजबान देश इंग्लैंड
  • भाग लेने वाले देश 8
  • कुल मैच खेले गए 15
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट घोषित नही
  • सबसे अधिक रन 253 – गार्डन ग्रीनिज (वेस्टइंडीज)
  • सबसे अधिक विकेट 10 – माइक हेंड्रिक(इंग्लैंड)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन वेस्टइंडीज


तीसरा वनडे वर्ल्ड कप (3rd One-day World-cup)│इंग्लैंड-1983

वनडे क्रिकेट का तीसरा वर्ल्ड कप इंग्लैंड में ही खेला गया। इस तीसरे वर्ल्ड कप का नाम भी प्रूडेंशियल वर्ल्ड कप ही था। वनडे क्रिकेट का तीसरा वर्ल्ड कप 9 जून 1983 से 25 जून 1983 के बीच इंग्लैंड और वेल्स में आयोजित किया गया।

इस टूर्नामेंट में भी पिछले 2 टूर्नामेंट की तरह 8 देशों ने भाग लिया। 7 देश पिछले टूर्नामेंट वाले ही थे। इस बार जिंबाब्वे इस टूर्नामेंट में नया सदस्य था। जिंबाब्वे ने 1982 की आईसीसी ट्रॉफी जीती थी, इसी कारण उसे वनडे वर्ल्ड कप में प्रवेश मिला।

इस टूर्नामेंट में भाग लेने वाले 8 देशों के नाम इस प्रकार थे।

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. इंग्लैंड
  4. न्यूजीलैंड
  5. वेस्टइंडीज
  6. पाकिस्तान
  7. श्रीलंका
  8. जिम्बॉब्वे

तीसरे वर्ल्ड कप का प्रारूप भी पहले जैसा ही था। जिसमें 8 टीमों को ग्रुप ए और ग्रुप बी दो ग्रुपों में बांटा गया।

ग्रुप Aग्रुप B
भारतइंग्लैंड
ऑस्ट्रेलियान्यूजीलैंड
वेस्टइंडीजपाकिस्तान
जिम्बॉब्वेश्रीलंका

इस बार प्रारूप में थोड़ा परिवर्तन किया गया और सभी दोनों ग्रुप की चारों टीमों को अपनी अन्य तीन टीमों से एक नहीं बल्कि दो-दो मैच खेलने थे। इस तरह ग्रुप स्टेज में हर टीम को अपनी बाकी तीन सदस्य टीमों से 2-2 मैच खेलने थे यानी ग्रुप स्टेज में हर टीम को कुल 6 मैच खेलने थे। 9 जून से ग्रुप स्टेज के मैचों का आरंभ हो गया।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1 इंगलैंड651020
2 पाकिस्तान633012
3 न्यूज़ीलैंड633012
4 श्रीलंका61504

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1 वेस्ट इंडीज651020
2 भारत642016
3 ऑस्ट्रेलिया62408
4 ज़िम्बाब्वे61504

ग्रुप ‘A’ के मैचों का संक्षिप्त विवरण

तारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
9 जून 1983इंग्लैड-न्यूजीलैंडओवल, लंदनइंग्लैंड 322/6 (60 ओवर), न्यूज़ीलैंड 216 (59 ओवर)इंग्लैंड 106 रन से जीता
9 जून 1983पाकिस्तान-श्रीलंकासेंट हेलेन्स, स्वानसीपाकिस्तान 338/5 (60 ओवर), श्रीलंका 288/9 (60 ओवर)पाकिस्तान ने 50 रन से जीत दर्ज की
11 जून 1983इंग्लैंड-श्रीलंकाकाउंटी ग्राउंड, टॉनटनइंग्लैंड 333/9 (60 ओवर), श्रीलंका 286 (58 ओवर)इंग्लैंड ने 47 रन से जीत दर्ज की
11 जून 1983न्यूजीलैंड-पाकिस्तानएजबेस्टन, बर्मिंघमन्यूज़ीलैंड 238/9 (60 ओवर), पाकिस्तान 186 (55.2 ओवर)न्यूज़ीलैंड 52 रन से जीता
13 जून 1983पाकिस्तान-इंग्लैडलॉर्ड्स, लंदनपाकिस्तान, 193/8 (60 ओवर), इंग्लैंड 199/2 (50.4 ओवर)इंग्लैंड 8 विकेट से जीता
13 जून 1983श्रीलंका-न्यूजीलैंडकाउंटी ग्राउंड, ब्रिस्टलश्रीलंका 206 (56.1 ओवर), न्यूज़ीलैंड 209/5 (39.2 ओवर)न्यूजीलैंड ने 5 विकेट से जीता
15 जून 1983इंग्लैंड-न्यूजीलैडएजबेस्टन, बर्मिंघम,इंग्लैंड 234 (55.2 ओवर), न्यूज़ीलैंड 238/8 (59.5 ओवर)न्यूज़ीलैंड 2 विकेट से जीता
16 जून 1983पाकिस्तान-श्रीलंकाहेडिंग्ले, लीड्सपाकिस्तान 235/7 (60 ओवर), श्रीलंका 224 (58.3 ओवर)पाकिस्तान 11 रन से जीता
18 जून 1983पाकिस्तान-इंग्लैंडओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टरपाकिस्तान 232/8 (60 ओवर), इंग्लैंड 233/3 (57.2 ओवर)इंग्लैंड ने 7 विकेट से जीता
18 जून 1983न्यूजीलैंड-श्रीलंकाकाउंटी ग्राउंड, डर्बीन्यूज़ीलैंड 181 (58.2 ओवर), श्रीलंका 184/7 (52.5 ओवर)श्रीलंका ने 3 विकेट से जीत दर्ज की
20 जून 1983श्रीलंका-इंग्लैंडहेडिंग्ले, लीड्सश्रीलंका  136 (50.4 ओवर), इंग्लैंड, 137/1 (24.1 ओवर)इंग्लैंड 9 विकेट से जीता
20 जून 1983पाकिस्तान-न्यूजीलैंडट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघमपाकिस्तान 261/3 (60 ओवर), न्यूज़ीलैंड, 250 (59.1 ओवर)पाकिस्तान 11 रन से जीता

ग्रुप ‘B’ के मैचों का संक्षिप्त विवरण

तारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
9 जून 1983ऑस्ट्रेलिया-जिम्बॉब्वेट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघमजिम्बाब्वे 239/6 (60 ओवर), ऑस्ट्रेलिया226/7 (60 ओवर)जिम्बाब्वे 13 रन से जीता
9 जून 1983भारत-ऑस्ट्रेलियाओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टरभारत 262/8 (60 ओवर), वेस्टइंडीज 228 (54.1 ओवर)भारत ने 34 रन से जीत दर्ज की
11 जून 1983वेस्टइंडीज-ऑस्ट्रेलियाहेडिंग्ले, लीड्सवेस्टइंडीज 252/9 (60 ओवर), ऑस्ट्रेलिया 151 (30.3 ओवर)वेस्टइंडीज 101 रन से जीता
11 जून 1983भारत-जिम्बॉब्वेग्रेस रोड, लीसेस्टरजिम्बाब्वे 155 (51.4 ओवर), भारत 157/5 (37.3 ओवर)भारत 5 विकेट से जीता
13 जून 1983भारत-ऑस्ट्रेलियाट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघमऑस्ट्रेलिया 320/9 (60 ओवर), भारत 158 (37.5 ओवर)ऑस्ट्रेलिया 162 रनों से जीता
13 जून 1983जिम्बॉब्वे-वेस्टइंडीजन्यू रोड, वॉर्सेस्टरजिम्बाब्वे 217/7 (60 ओवर), वेस्टइंडीज़ 218/2 (48.3 ओवर)वेस्टइंडीज ने 8 विकेट से जीत दर्ज की
15 जून 1983भारत-वेस्टइंडीजओवल, लंदनवेस्टइंडीज 282/9 (60 ओवर), भारत 216 (53.1 ओवर)वेस्टइंडीज ने 66 रन से जीत दर्ज की
16 जून 1983ऑस्ट्रेलिया-जिम्बॉब्वेकाउंटी ग्राउंड, साउथेम्प्टनऑस्ट्रेलिया 272/7 (60 ओवर), जिम्बाब्वे 240 (59.5 ओवर)ऑस्ट्रेलिया ने जिम्बॉब्वे को 32 रन से हराया
18 जून 1983ऑस्ट्रेलिया-वेस्टइंडीजलार्ड्स, लंदनऑस्ट्रेलिया 273/6 (60 ओवर), वेस्टइंडीज 276/3 (57.5 ओवर)वेस्टइंडीज  7 विकेट से जीता
18 जून 1983भारत-जिम्बॉव्बेनेविल ग्राउंड, ट्यूनब्रिजभारत 266/8 (60 ओवर), जिम्बाब्वे 235 (57 ओवर)भारत ने 31 रन से जीत दर्ज की
20 जून 1983भारत-ऑस्ट्रेलियाकाउंटी ग्राउंड, चेम्सफोर्डभारत 247 (55.5 ओवर), ऑस्ट्रेलिया 129 (38.2 ओवर)भारत ने 118 रन से जीत दर्ज की
20 जून 1983जिम्बॉब्वे-वेस्टइंडीजएजबेस्टन, बर्मिघमजिम्बाब्वे 171 (60 ओवर), वेस्टइंडीज़ 172/0 (45.1 ओवर)वेस्टइंडीज ने 10 विकेट से जीत दर्ज की

सेमीफाइनल

ग्रुप ए में इंग्लैंड और पाकिस्तान ने टेबल में पहले 2 स्थान पर जगह में बनाई। इंग्लैंड पहले स्थान पर और पाकिस्तान दूसरे स्थान पर रहा, जबकि ग्रुप बी में भारत और वेस्टइंडीज ने पहले दो स्थान में जगह बनाई।

वेस्टइंडीज पहले स्थान पर और भारत दूसरे स्थान पर रहा। भारत ने इस टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन किया था और पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाई थी।

तीसरे वनडे वर्ल्डकप का पहला सेमीफाइनल 22 जून 1975 को भारत और इंग्लैंड के बीच मैनचेस्ट के ओल्ड ट्रैफर्ड में खेला गया, जिसमें भारत ने इंग्लैंड को 6 विकेट से हराकर टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया।

दूसरा सेमीफाइनल वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के बीच 22 जून 1983 को लंदन के द ओवल मैदान में खेला गया। वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान को 8 विकेट से हराकर लगातार तीसरी बार फाइनल में वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के फाइनल में अपनी जगह बनाई।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल22 जून 19750भारत-इंग्लैंडओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टरइंग्लैंड 213/10 (60) भारत 217/4 (54.4)भारत ने इंग्लैड को 6 विकेट से हराया
दूसरा सेमीफाइनल22  जून 1975वेस्टइंडीज-पाकिस्तानद ओवल, लंदनपाकिस्तान 184/8 (60) वेस्टइंडीज 188/2 (48.4)वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान को 8 विकेट से हराया

फाइनल

तीसरे वनडे वर्ल्ड कप का फाइनल 25 जून 1983 को भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेला गया था। भारत पहली बार फाइनल में पहुंचा था जबकि वेस्टइंडीज लगातार तीसरी बार फाइनल में पहुंचने वाली टीम थी। सभी लोगों को यही उम्मीद थी कि वेस्टइंडीज ही इस बार फिर से चैंपियन बनेगा, लेकिन भारत ने उलटफेर करते हुए वेस्टइंडीज जैसी मजबूत टीम को हराकर पहली बार वनडे वर्ल्ड कप का खिताब जीता।

यह भारत के क्रिकेट इतिहास का सबसे महत्वपूर्ण दिन था, जिस कारण भारत में क्रिकेट निरंतर आगे बढ़ता गया। फाइनल मैच में भारत ने पहले बैटिंग करते हुए 54.4 ओवर में 10 विकेट खोकर 183 रन बनाए। जवाब में वेस्टइंडीज की टीम 52 ओवर में 140 रन बनाकर ही ऑल आउट हो गई।

फाइनल में मैच में भारत के मोहिंदर अमरनाथ को प्लेयर ऑफ दि मैच का पुरुस्कार मिला।  उन्होंने 7 ओवर में 12 रन देकर तीन विकेट लिए थे।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल25 जून 1979भारत-वेस्टइंडीजलार्ड्स, लंदनभारत 183/10 (54.4) वेस्टइंडीज 140/10 (52)भारत ने वेस्टडंडीज को 43 रन से हराकर पहली बार वनडे वर्ल्ड कप जीता

तीसरे वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 9 जून 1979 से 23 जून 1979 तक
  • मेजबान देश इंग्लैंड
  • भाग लेने वाले देश 8
  • कुल मैच खेले गए 27
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट घोषित नही
  • सबसे अधिक रन 384 – डेविड गॉवर (इंग्लैंड)
  • सबसे अधिक विकेट 18 – रोजर बिन्नी (भारत)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन भारत


चौथा वनडे वर्ल्ड कप (4th One-day World-cup)│भारत-पाकिस्तान 1987

अभी तक के तीनों वर्ल्ड कप इंग्लैंड में ही आयोजित किए गए थे, लेकिन अब वर्ल्ड कप का यह सफर इंग्लैंड से बाहर निकलकर भारतीय उपमहाद्वीप में आ पहुंचा था यानी चौथा वनडे वर्ल्ड कप भारतीय उपमहाद्वीप में आयोजित किया गया था।

दूसरे वर्ल्ड कप की भारत और पाकिस्तान ने संयुक्त रूप से मेजबानी की थी। 1987 के वर्ल्ड कप को आधिकारिक रूप से रिलायंस कप के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि धीरूभाई अंबानी की रिलायंस कंपनी इस वर्ल्ड कप आयोजन की प्रमुख प्रायोजक थी।

1987 का वर्ल्ड कप भारत और पाकिस्तान में संयुक्त रूप से 8 अक्टूबर 1987 से 8 नवंबर 1987 के बीच खेला गया।

भारत और पाकिस्तान दोनों ने इस टूर्नामेंट की संयुक्त रूप से मेजबानी की थी। इसी कारण सेमीफाइनल और फाइनल को मिलाकर कुल 27 मैचों में 17 मैच भारत में तथा 10 मैच पाकिस्तान में खेले गए। एक सेमीफाइनल भारत में तथा दूसरा सेमीफाइनल पाकिस्तान में खेला गया।

टूर्नामेंट का फाइनल मैच भारत में खेला गया। इस वर्ल्ड कप में पिछले तीनों टूर्नामेंट की तरह 8 देशों ने ही भाग लिया और वह आठ देश पिछले वर्ल्ड कप वाले 8 देश ही थे, जिन्होंने पिछले 1983 के वर्ल्ड कप में भाग लिया। इनमें सात देश टेस्ट खेलने का दर्जा रखने वाले देश थे और 8वां देश जिंबाब्वे एसोसिएट सदस्य देश था, जिसने 1986 की आईसीसी ट्रॉफी जीतकर

इस टूर्नामेंट में खेलने का अधिकार पाया था। इस टूर्नामेंट में भाग लेने वाले 8 देशों के नाम इस प्रकार थे।

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. इंग्लैंड
  4. न्यूजीलैंड
  5. वेस्टइंडीज
  6. पाकिस्तान
  7. श्रीलंका
  8. जिम्बॉब्वे

चौथे वर्ल्ड कप का प्रारूप भी पहले जैसा ही था। जिसमें 8 टीमों को ग्रुप ए और ग्रुप बी दो ग्रुपों में बांटा गया।

ग्रुप Aग्रुप B
भारतइंग्लैंड
ऑस्ट्रेलियावेस्टइंडीज
न्यूजीलैंडपाकिस्तान
जिम्बॉब्वेश्रीलंका

दोनो ग्रुप की चारों टीमों को अपने ग्रुप की बाकी तीन टीमों से दो-दो बार भिड़ना था यानि प्रत्येक टीम को हर टीम से दो बार मैच खेलने थे। इस तरह हर टीम को ग्रुप स्टेज में 6 मैच खेलने थे। दोनो की ग्रुप की टॉप पर रहने वाली 2 टीमों को सेमीफाइनल में जगह मिलनी थी। ग्रुप स्टेज की मैचों की शुरुआत 8 अक्टूबर 1987 से हो चुकी थी।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1 भारत651020
2 ऑस्ट्रेलिया651020
3 न्यूज़ीलैंड62408
4 ज़िम्बाब्वे60600

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारटाइअंक
1 पाकिस्तान651020
2 इंगलैंड642016
3 वेस्ट इंडीज633012
4 श्रीलंका60600

सेमीफाइनल

चौथे वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड ने जगह बनाई। पिछले 3 वर्ल्ड कप मैच का फाइनल चलने वाली तथा शुरू के 2 वनडे वर्ल्ड कप जीतने वाली वेस्टइंडीज जैसी मजबूत टीम इस बार सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई और ग्रुप स्टेज में ही बाहर हो गई।

इस तरह सेमीफाइनल के लिए भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के रूप में चार टीमें क्वालिफाई हुईं। पहला सेमीफाइनल मैच पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के पाकिस्तान के लाहौर शहर में खेला गया था। ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 18 रन से हराकर फाइनल में प्रवेश किया। इससे पहले वह 1975 के वर्ल्ड कप मे फाइनल में पहुँचा था और उपविजेता रहा था।

पहला सेमीफाइनल 4 नवंबर 1987 को पाकिस्तान के लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में खेला गया था । ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवरों में 8 विकेट खोकर 267 रन बनाए जवाब में पाकिस्तान की टीम 50 ओवर मे 249 रन बनाकर आउट हो गई।

दूसरा सेमीफाइनल 5 नवंबर 1987 को भारत और इंग्लैंड के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया। इंग्लैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 6 विकेट खोकर 254 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम केवल 219 रन बनाकर ऑल आउट हो गई।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल4 नवंबर 1987ऑस्ट्रेलिया-पाकिस्तानगद्दाफी स्टेडियम, लाहौरऑस्ट्रेलिया 267/8 (50) पाकिस्तान 249/10 (49)आस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 18 रन से हराया
दूसरा सेमीफाइनल5 नंवबर 1987भारत-इंग्लैंडवानखेड़े स्टेडियम, मुंबईइंग्लैड 254/6 (50) भारत 219/10 (45.3)इंग्लैंड ने भारत को 35 रन से हराया

फाइनल

चौथे वर्ल्ड कप का फाइनल मैच भारत के कोलकाता (तत्कालीन कलकत्ता) शहर के ईडन गार्डन में खेला गया था। फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 7 रन से हराकर अपना पहला वनडे वर्ल्ड कप जीता।

ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 5 विकेट खोकर कुल 253 रन बनाए जवाब में इंग्लैंड की टीम 50 ओवर में 8 विकेट खोकर 246 रन ही बना सकी। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने अपना पहला वनडे वर्ल्ड कप जीता।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल8 नवंबर 1987ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंडईडन गार्डन, कोलकाता (कलकत्ता)ऑस्ट्रेलिया 253/3 (50) इंग्लैंड 246/8 (50)ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 7 रन से हराया

चौथे वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 8 अक्टूबर 1987 से 8 नवंबर 1987
  • मेजबान देश भारत-पाकिस्तान
  • भाग लेने वाले देश 8
  • कुल मैच खेले गए 27
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट घोषित नही
  • सबसे अधिक रन 471 – ग्राहम गूच (इंग्लैंड)
  • सबसे अधिक विकेट 18 – क्रेग मैक्डरमोट (ऑस्ट्रेलिया)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन ऑस्ट्रेलिया


पाँचवा वनडे वर्ल्ड कप (5th One-day World-cup)│ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड 1992

पाँचवा वर्ल्ड कप 1992 में आयोजित किया गया। इस बार पांचवा वनडे वर्ल्ड कप 1992 में ऑस्ट्रेलिया एवं न्यूजीलैंड में आयोजित किया गया। इस वर्ल्ड कप को प्रायोजक बेंसन एंड हेजेज कप के नाम से भी जाना जाता है, जो इस टूर्नामेंट का मुख्य प्रायोजक था।

पांचवा वनडे वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में 22 फरवरी 1992 से 25 मार्च 1992 के बीच खेला गयाष अब इस वनडे वर्ल्ड कप में कुल 9 टीमों ने भाग लिया और टूर्नामेंट का प्रारूप पूरी तरह से बदल दिया गया। अब सभी 9 टीमों को 2 ग्रुपों में नहीं बांटा गया बल्कि सारे मैच राउंड रोबिन फॉर्मेट के आधार पर खेले गए। सभी 9 टीमों को टूर्नामेंट की बाकी 8 अन्य टीमों से मैच खेलने थे।

इस वर्ल्ड कप तक श्रीलंका को टेस्ट मैच खेलने का दर्जा मिल चुका था। इसी कारण टेस्ट मैच खेलने वाले सभी 8 देश इस टूर्नामेंट में शामिल हुए। जिम्बॉब्वे एसोसियेट सदस्य के रूप में शामिल हुआ था। हालाँकि वनडे वर्ल्ड कप तक दक्षिणी अफ्रीका की टीम को टेस्ट मैच का दर्जा नही मिला था लेकिन वनडे वर्ल्ड कप के एक महीने बाद उसे टेस्ट मैच देश का दर्जा मिल गया था। प्रतिबंध लगने से पहले भी भी दक्षिणी अफ्रीका एक टेस्ट मैच खेलने वाला देश ही था।

दक्षिणी अफ्रीका की टीम पहली बार वनडे वर्ल्ड कप में शामिल हुई, उसे भी पहले से ही देश का दर्जा मिला हुआ था, लेकिन प्रतिबंधों के कारण वह कई वर्षों से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेल पा रही थी। 1992 में साउथ अफ्रीका के ऊपर से आईसीसी का प्रतिबंध हट गया और उसने पांचवे वनडे वर्ल्ड कप में पहली बार भाग लिया।

5वें वनडे वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में भाग लेने वाले सभी 9 देशों के नाम इस प्रकार हैं

  1. भारत
  2. पाकिस्तान
  3. आस्ट्रेलिया
  4. न्यूजीलैंड
  5. इंग्लैंड
  6. वेस्टइंडीज
  7. श्रीलंका
  8. जिम्बॉब्वे
  9. दक्षिणी अफ्रीका

टूर्नामेंट की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1 न्यूज़ीलैंड871014
2 इंगलैंड852011
3 दक्षिण अफ्रीका853010
4 पाकिस्तान84309
5 ऑस्ट्रेलिया84408
6 वेस्ट इंडीज84408
7 भारत82505
8 श्रीलंका82505
9 ज़िम्बाब्वे81702

सेमीफाइनल

टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका ने अपनी जगह बनाई। टूर्नामेंट का पहला सेमीफाइनल न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के बीच 21 मार्च 1992 में न्यूजीलैंड में ऑकलैंड के ईडन पार्क स्टेडियम पर खेला गया। न्यूजीलैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 7 विकेट खोकर 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 262 रन बनाए जवाब में पाकिस्तान की टीम ने 49 ओवर में 6 विकेट खोकर 264 रन बनाकर मैच 4 विकेट से मैच जीत लिया और टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया।

टूर्नामेंट का दूसरा सेमीफाइनल 22 मार्च 1992 को इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच सिडनी के सिडनी क्रिकेट ग्राउंड स्टेडियम में खेला गया। इस सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 45 ओवर में छह विकेट पर 252 रन बनाए जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम 40 ओवर में छह विकेट खोकर 232 रन ही बना पाई। इंग्लैंड ने 19 रन से मैच जीतककर टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल21 मार्च 1992पाकिस्तान-न्यूजीलैंडईडन पार्क, आकलैंडन्यूजीलैंड 262/7 (50) पाकिस्तान 264/6 (49)पाकिस्तान ने न्जूजीलैंड को 4 विकेट से हराया
दूसरा सेमीफाइनल22 मार्च 1992इंग्लैंड-दक्षिणी अफ्रीकासिडनी क्रिकेट ग्राउंड, सिडनीइंग्लैंड 252/6 (45) दक्षिणी अफ्रीका 232/6 (43)इंग्लैंड ने दक्षिणी अफ्रीका को 19 रन से हराया

फाइनल

टूर्नामेंट का फाइनल 25 मार्च 1992 को पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेला गया। फाइनल मैच में पाकिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए  50 ओवर में छह विकेट खोकर 249 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड की टीम 49.2 ओवर में केवल 227 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। पाकिस्तान ने 22 रन से मैच जीतकर पाँचवा वनडे वर्ल्ड कप जीत लिया।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल25 मार्चइंग्लैंड-पाकिस्तानमेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड, मेलबर्नपाकिस्तान 249/6 (50) इंग्लैंड 227/10 (49.2)पाकिस्तान ने इंग्लैड को 19 रन से हराया

5वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 22 फरवरी 1992 से 25 मार्च 1992
  • मेजबान देश ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड
  • भाग लेने वाले देश 9
  • कुल मैच खेले गए 39
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट मार्टिन क्रो
  • सबसे अधिक रन 456 – मार्टिन क्रो (न्यूजीलैंड)
  • सबसे अधिक विकेट 18 – वसीम अकरम (पाकिस्तान)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन पाकिस्तान


छठा वनडे वर्ल्ड कप (6th One-day World-cup)│भारत-पाकिस्तान-श्रीलंका 1996

छठा वनडे वर्ल्डकप टूर्नामेंट 1996 में खेला गया। 1987 के बाद एक एक बार फिर ये टूर्नामेट भारतीय उपमहाद्वीप में खेला गया।

6वे वनडे वर्ल्ड कप का आयोजन भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका में 14 फरवरी 1996 से 17 मार्च 1996 के बीच किया गया। इस वर्ल्ड कप की मेजबानी भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका तीनों देशों द्वारा संयुक्त रूप से की गई थी। इस वर्ल्ड कप का आधिकारिक नाम विल्स वर्ल्ड कप था, क्योंकि विल्स कंपनी इस वर्ल्ड कप की मुख्य प्रायोजक कंपनी थी।

छठे वनडे वर्ल्ड कप में कुल 12 देशों ने भाग लिया। इस वर्ल्ड कप में टेस्ट खेलने वाले सभी 9 देशों ने भाग लिया इसके अतिरिक्त तीन एसोसिएट सदस्य देशों ने भी भाग लिया। जिंबाब्वे को 1996 तक टेस्ट खेलने का दर्जा मिल चुका था। इस तरह टेस्ट खेलने वाले 9 देश हो चुके थे। इन सभी 9 देशों के अलावा 3 देश एसोसियेट सदस्य संयुक्त अरब अमीरात, केन्या और नीदरलैंड थे।

भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका द्वारा संयुक्त रूप मेजबानी करने के कारण भारत ने 17 मैचों की मेजबानी की तो पाकिस्तान ने 16 मैचों की मेजबानी की। श्रीलंका ने चार मैचों की मेजबानी की। यानी कुल 36 मैचों में से 17 भारत में खेले गए। 16 मैच पाकिस्तान में खेले गए तथा 4 मैच श्रीलंका में खेले गए। इनमें दो सेमीफाइनल और एक फाइनल भी शामिल था। इस बार एक सेमीफाइनल भारत में तथा एक सेमी फाइनल श्रीलंका में खेला गया। फाइनल मैच पाकिस्तान में खेला गया।

छठे वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले सभी 12 देश इस प्रकार थे…

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. इंग्लैंड
  4. न्यूजीलैंड
  5. वेस्टइंडीज
  6. पाकिस्तान
  7. श्रीलंका
  8. दक्षिणी अफ्रीका
  9. जिम्बॉब्वे
  10. नीदरलैंड
  11. केन्या
  12. संयुक्त अरब अमीरात

दूसरा वर्ल्ड कप का प्रारूप राउड रोबिन से हटाकर फिर से ग्रुप वाला कर दिया गया। जिसमें सभी टीमों को ग्रुप ए और ग्रुप बी दो ग्रुपों में बांटा गया।

ग्रुप ‘A’ग्रुप ‘B’
भारतइंग्लैड
ऑस्ट्रेलियान्यूजीलैड
वेस्टइंडीजपाकिस्तान
श्रीलंकादक्षिणी अफ्रीका
जिम्बॉब्वेनीदरलैड
केन्यासंयुक्त अरब अमीरात

इस बार टूर्नामेंट का प्रारूप थोड़ा बदला हुआ था। दोनों ग्रुप में से टॉप की चार टीमों को नॉकआउट चरण में प्रवेश करना था, जिसे क्वार्टर फाइनल कहा गया। दोनों ग्रुप की सभी टीमों को बाकी अन्य 5 दिनों से एक एक मैच खेलना था। हर ग्रुप में से चार टीमें क्वार्टर फाइनल में प्रवेश करने वाली थी। यानी नॉकआउट चरण (क्वार्टर फाइनल) के लिए 8 टीमें जाने वाली थी।

ग्रुप स्टेज के मैचों का आरंभ 17 फरवरी 1996 से हो गया और ग्रुप स्टेज के मैचों में ग्रुप ए से श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और वेस्टइंडीज ने पहले 4 स्थानों मे जगह बनाई तो ग्रुप बी से दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड ने पहले 4 स्थानों में जगह बनाई। ग्रुप ए से जिम्बॉब्वे और केन्या तथा ग्रुप बी से नीदरलैड और संयुक्त अरब अमीरात बाहर हो गईं।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1श्रीलंका550010
2ऑस्ट्रेलिया53206
3भारत53206
4वेस्ट इंडीज52304
5ज़िम्बाब्वे51402
6केन्या51402

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1दक्षिण अफ्रीका550010
2पाकिस्तान54108
3न्यूज़ीलैंड53206
4इंग्लैंड52304
5संयुक्त अरब अमीरात51402
6नीदरलैंड50500

क्वार्टर फाइनल का रिजल्ट

ग्रुप स्टेज के मैच पूरे हो चुके थे। दोनों ग्रुप से टॉप की चार-चार टीमों ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। क्वार्टर फाइनल में सभी 8 टीमों को एक-एक में मैच खेला था और सेमीफाइनल में जगह बनानी थी। कुल 4 क्वार्टर फाइनल होने थे।

पहले क्वार्टर फाइनल में 9 मार्च 1996 को इंग्लैंड का मुकाबला श्रीलंका से हुआ। श्रीलंका ने इंग्लैंड को 5 विकेट से हराकर पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाई।

दूसरे क्वार्टर फाइनल में 9 मार्च 1996 को भारत एवं पाकिस्तान के बीच मुकाबला हुआ। भारत ने पाकिस्तान को 39 रन से हराकर सेमीफाइनल की राह पकड़ी।

तीसरे क्वार्टर फाइनल में 10 मार्च 1996 को वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका एक दूसरे से के लिए अपना स्थान पक्का किया।

चौथे क्वार्टर फाइनल में 11 मार्च 1996 को ही न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच हुआ, जिसमें ऑस्ट्रेलिया न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराकर सेमीफाइनल की चौथी टीम बनी।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला क्वार्टर फाइनल9 मार्च 1996इंग्लैंड-श्री लंकाइकबाल स्टेडियम, फैसलाबादइंग्लैंड 235/8 (50) श्रीलंका 236/5.4श्रीलंका ने इंग्लैंड को पांच विकेट से हराया
दूसरा क्वार्टर फाइनल9 मार्च 1996भारत-पाकिस्तानएम. चिन्नास्वामी स्टेडियम, बेंगलुरुभारत 287/8(50) पाकिस्तान 248/9 (49)भारत ने पाकिस्तान को 39 रन से हराया
तीसरा क्वार्टर फाइनल11 मार्च 1996वेस्टइंडीज-दक्षिणी अफ्रीकानेशनल स्टेडियम, कराचीवेस्ट इंडीज 264/8(50) दक्षिण अफ्रीका 245/10 (49.3)वेस्टइंडीज ने दक्षिण अफ्रीका को 19 रन से हराया
चौथा क्वार्टर फाइनल11 मार्च 1996न्यूजीलैंड-ऑस्ट्रेलियाएमए. चिदंबरम स्टेडियम, चेन्नईन्यूजीलैंड 286/9 (50) ऑस्ट्रेलिया 289/447.5ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया

सेमीफाइनल

सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चार टीमें भारत, श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज थीं। पहला सेमीफाइनल 13 मार्च 1996 को भारत और श्रीलंका के बीच कोलकाता के ईडन गार्डन स्टेडियम में हुआ। श्रीलंका ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 8 विकेट पर 251 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम केवल 34.1 ओवर में 8 विकेट खोकर 120 रन ही बना पाई।

भारतीय टीम के बेहद खराब प्रदर्शन के कारण दर्शक बेहद गुस्सा हो गए और मैच में दर्शकों द्वारा व्यवधान उत्पन्न किए जाने के कारण मैच को रोकना पड़ा। बाद में तकनीकी आधार पर श्रीलंका को विजेता घोषित कर दिया गया। इस तरह श्रीलंका छठे वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचने वाली टीम बन गई।

दूसरा सेमीफाइनल 14 मार्च 1996 को ऑस्ट्रेलिया एवं वेस्टइंडीज के बीच मोहाली के पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में हुआ। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 8 विकेट पर 207 रन बनाए जब आप में वेस्टइंडीज की टीम 49.3 ओवर में 202 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने पांच रनों से मैच जीत कर वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल फाइनल मैच में अपनी जगह बनाई।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल13 मार्च 1996भारत-श्रीलंकाईडन गार्डन, कोलकाताश्रीलंका 251/8 (50) भारत 120/8 (34.1)श्रीलंका ने भारत को हराया। श्रीलंका तकनीकी आधार पर विजेता
दूसरा सेमीफाइनल14 मार्च 1996ऑस्ट्रेलिया-वेस्टइंडीजगद्दाफी स्टेडियम, लाहौरऑस्ट्रेलिया 207/8 (50) वेस्टइंडीज 202/10 (49.3)ऑस्ट्रेलिया ने वेस्टइंडीज को 5 रन से हराया

फाइनल

वर्ल्ड कप का फाइनल ऑस्ट्रेलिया एवं श्रीलंका के बीच लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में खेला गया। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 241 रन बनाए। जवाब में श्रीलंका की टीम ने 40.5 ओवर में 245 रन बनाकर मैच जीत लिया और श्रीलंका ने पहली बार वनडे वर्ल्ड कप का चैंपियन होने का गौरव प्राप्त किया।

मैचतारीखटीमवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल17 मार्च 1996ऑस्ट्रेलिया-श्रीलंकागद्दाफी स्टेडियम, लाहौरऑस्ट्रेलिया 207/8 (50) वेस्टइंडीज 202/10 (49.3)ऑस्ट्रेलिया ने वेस्टइंडीज को 5 रन से हराया

6वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 14 फरवरी 1996 से 17 मार्च 1996 तक
  • मेजबान देश भारत-पाकिस्तान-श्रीलंका
  • भाग लेने वाले देश 12
  • कुल मैच खेले गए 37
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट सनथ जयसूर्याा (श्रीलंका)
  • सबसे अधिक रन 523 – सचिन तेंदुलकर (भारत)
  • सबसे अधिक विकेट 15 – अनिल कुंबल (भारत)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन श्रीलंका


सातवां वनडे वर्ल्ड कप (7th One-day World-cup)│इंग्लैड 1999

सातवां वनडे वर्ल्ड कप एक बार फिर 1999 में इंग्लैंड में खेला गया। यह चौथा अवसर था जब इंग्लैंड में वनडे वर्ल्ड कप खेला जा रहा था।

आईसीसी द्वारा आयोजित सातवां वनडे वर्ल्ड कप 14 मई 1999 से 20 जून 1999 के बीच इंग्लैंड में खेला गया। इंग्लैंड इस वर्ल्ड कप का मुख्य आयोजक था। उसके अलावा कुछ मैच स्कॉटलैंड, आयरलैंड, नीदरलैंड और वेल्स में भी खेले गए जो सह मेजबान थे।

सातवें वनडे वर्ल्ड कप में कुल 12 टीम में शामिल हुई, जिनके बीच कुल 42 मैच हुए थे। सभी टीमों को छह टीमों के दो ग्रुप में बांटा गया। टूर्नामेंट का प्रारूप इस तरह था कि ग्रुप मैच के बाद सुपर सिक्स फॉर्मेट होगा यानी हर ग्रुप से तीन-तीन टीम में सुपर सिक्स में जाने वाली थीं। यह वर्ल्ड कप में एक नया प्रारूप था।

सातवें वनडे वर्ल्ड कम में 9 टेस्ट मैच खेलने वाले देशों के अलावा बांग्लादेश, केन्या और स्कॉटलैंड की टीमें भी शामिल थी। इस बार बांग्लादेश की टीम आईसीसी ट्रॉफी के विजेता के तौर पर पहली बार वनडे वर्ल्ड कप खेल रही थी। केन्या की टीम आईसीसी ट्रॉफी की उपविजेता थी और स्कॉटलैंड ने आईसीसी ट्रॉफी में तीसरा स्थान प्राप्त किया था। इसी आधार पर इन तीनों टीमों को शामिल किया गया। बाकी 9 देश टेस्ट खेल मैच खेलने वाले देश थे।

सातवें वनडे वर्ल्ड कप में कल 12 देशों ने भाग लिया जिनके नाम इस प्रकार हैं

  • भारत
  • ऑस्ट्रेलिया
  • इंग्लैंड
  • न्यूजीलैंड
  • पाकिस्तान
  • दक्षिण अफ्रीका
  • वेस्टइंडीज
  • जिंबॉब्वे
  • श्रीलंका
  • बांग्लादेश
  • केन्या
  • स्कॉटलैंड

सभी 12 टीमों को छह टीमों के दो ग्रुप में बांटा गया जो कि इस प्रकार थे।

ग्रुप ‘A’ग्रुप ‘B’
भारतऑस्ट्रेलिया
इंग्लैंडन्यूजीलैड
दक्षिणी अफ्रीकापाकिस्तान
श्रीलंकावेस्टइंडीज
जिम्बॉब्वेबांग्लादेश
केन्यास्कॉटलैंड

ग्रुप स्टेज

ग्रुप स्टेज के मैच 14 मई से आरंभ हो गए। ग्रुप ए में दक्षिण अफ्रीका, भारत और जिंबॉब्वे ने प्वाइंट टेबल में पहले तीन स्थानों में जगह बनाई। ग्रुप बी में पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने पहले तीन स्थानों में जगह बनाई। मेजबानी इंग्लैंड, श्रीलंका केन्या, वेस्टइंडीज, बांग्लादेश और स्कॉटलैंड जैसी टीम पहले चरण में ही बाहर हो गईं।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1दक्षिण अफ्रीका54108
2भारत53206
3ज़िम्बाब्वे53206
4इंगलैंड53206
5श्रीलंका52304
6केन्या50500

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1पाकिस्तान54108
2ऑस्ट्रेलिया53206
3न्यूज़ीलैंड53206
4वेस्टइंडीज53206
5बांग्लादेश52304
6स्कॉटलैंड50500

सुपर सिक्स स्टेज

दोनों ग्रुप से टॉप की टीम 3-3 टीमें सुपर सिक्स में पहुंचीं। सुपर सिक्स में पहुंचने वाली छः टीमें भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और जिंबाब्वे थीं। सुपर सिक्स में पहुंचने वाले सभी 6 टीमों को एक ही ग्रुप में रखा गया और हर टीम को बाकी की 5 टीमों से मैच खेलने थे।

टॉप के 4 स्थानों पर रहने वाली टीमों को सेमीफाइनल में प्रवेश मिलना था। सुपर सिक्स में पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिणी अफ्रीका और न्यूजीलैंड ने टॉप 4 स्थान पर जगह बनाई और सेमीफाइनल में प्रवेश किया। भारत और जिम्बॉब्वे ये दोनो टीमें सुपर सिक्स में टूर्नामेंट से बाहर हो गईं।

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1पाकिस्तान53206
2ऑस्ट्रेलिया53206
3दक्षिण अफ्रीका53206
4न्यूज़ीलैंड52215
5ज़िम्बाब्वे52215
6भारत51402

सेमीफाइनल

सेमी फाइनल में पहुंचने वाली चार टीमें ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका थी। पहला सेमीफाइनल 16 जून 1999 को न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के बीच खेला गया। न्यूजीलैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 7 विकेट होकर कल 241 रन बनाए, जवाब में पाकिस्तान की टीम ने केवल एक विकेट खोकर 242 रन बनाकर मैच जीत लिया और टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया।

दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिणी अफ्रीका का मुकाबला 17 जून 1999 को हुआ। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए 49.2 ओवर में 213 रन बनाए। जबाव में दक्षिणी अफ्रीकाकी टीम ने भी 49.4 ओवर में 213 रन ही बनाए। दोनों का स्कोर टाइ होने के बाद बेहतर रन रेट के आधार पर ऑस्ट्रेलिया को विजेता घोषित किया गया और उसे फाइनल में जगह मिली।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल16 जून 1999पाकिस्तान-न्यूजीलैंडओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टरन्यूजीलैंड 241/7 (50) पाकिस्तान 242/1 (47.3)पाकिस्तान ने न्यूजीलैंड को 9 विकेट से हराया
दूसरा सेमीफाइनल17 जून 1999ऑस्ट्रेलिया-दक्षिणी अफ्रीकाएजबेस्टन, बर्मिघमऑस्ट्रेलिया 213/10 (49.2) दक्षिणी अफ्रीका 213/10 (49.4)ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिणी अफ्रीका को बेहतर रन रेट के आधार पर हराया

फाइनल

सातवें वर्ल्ड कप का फाइनल मैच 20 जून 1999 को पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। इस फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 8 विकेट से हराकर अपना दूसरा वनडे वर्ल्ड कप जीता। पाकिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए 39 ओवर में 132 रन बनाए तो ऑस्ट्रेलिया की टीम ने केवल 20.1 ओवर में ही दो विकेट होकर 133 रन बनाकर मैच जीत लिया। इस तरह ऑस्ट्रेलिया दूसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बना।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल20 जून 1999ऑस्ट्रेलिया- पाकिस्तानलार्ड्स, लंदनपाकिस्तान 132 (39) ऑस्ट्रेलिया 133/2 (20.1)ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 8 विकेट से हराया

7वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • टूर्नामेंट खेला गया 14 मई 1999 से 20 जून 1999 तक
  • मेजबान देश इंग्लैंड, स्कॉटलैंड, आयरलैंड, नीदरलैंड, वेल्स
  • कुल टीमों ने भाग लिया 12
  • कुल मैच खेले गए 42
  • प्लेयर ऑफ टूर्नामेंट लांस क्लूजनर (दक्षिण अफ्रीका)
  • सबसे अधिक रन 461 – राहुल द्रविड़ (भारत)
  • सबसे अधिक विकेट विकेट 20 – ज्योफ एलॉट (न्यूजीलैंड) एवं 20 – शेन वार्न (ऑस्ट्रेलिया)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन ऑस्ट्रेलिया


आठवां वनडे वर्ल्ड कप (8th One-day World-cup)│द. अफ्रीका-जिम्बॉब्वे-केन्या 2003

आठवां वनडे वर्ल्ड कप 2003 दक्षिण अफ्रीका, जिम्बॉब्वे और केन्या में संयुक्त रूप से खेला गया। आठवां वनडे का वर्ल्ड कप 9 फरवरी 2003 से 23 मार्च 2003 के बीच दक्षिण अफ्रीका, जिम्बॉब्वे और केन्या में खेला गया। आठवें वनडे वर्ल्ड कप में कल 14 टीमों ने भाग लिया। यह अब तक किसी भी वनडे वर्ल्ड कप में सबसे अधिक टीमों की संख्या थी।

इन 14 टीमों के बीच कुल 54 मैच खेले गए। वनडे वर्ल्ड कप का प्रारूप 1999 वाले पिछले वर्ल्ड कप जैसा ही था। जिसमें सभी टीमों को दो ग्रुप में बांटा गया और हर ग्रुप की टॉप 3 टीमो को सुपर सिक्स के लिए क्वालिफाई करना था। आठवें वनडे वर्ल्ड कप में 10 टेस्ट मैच खेलने वाले देश शामिल थे क्योंकि बांग्लादेश को भी टेस्ट मैच खेलने का दर्जा मिल चुका था। इसके अलावा एसोसिएट सदस्य के रूप में केन्या, कनाडा, नामीबिया और नीदरलैंड ने भाग लिया।

आठवें वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले 14 देश इस प्रकार थे,

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. न्यूजीलैंड
  4. इंग्लैंड
  5. पाकिस्तान
  6. दक्षिणी अफ्रीका
  7. वेस्ट इंडीज
  8. श्रीलंका
  9. जिम्बॉब्वे
  10. बांग्लादेश
  11. केन्या
  12. कनाडा
  13. नामीबिया
  14. नीदरलैंड

आठवें वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले सभी 14 देश को 7-7 टीमों के दो ग्रुप में बांटा गया, ग्रुप ए और ग्रुप बी।

ग्रुप ‘A’ग्रुप ‘B’
भारतन्यूजीलैंड
ऑस्ट्रेलियादक्षिणी अफ्रीका
जिम्बॉब्वेवेस्ट इंडीज
इंग्लैंडश्रीलंका
पाकिस्तानकेन्या
नीदरलैंडबांग्लादेश
नामीबियाकनाडा

ग्रुप स्टेज

ग्रुप स्टेज के मैचों का आरंभ 10 फरवरी से हो गया। ग्रुप ए में ऑस्ट्रेलिया. भारत और जिम्बॉब्वे टॉप तीन स्थान पर रहे। इस वर्ल्ड कप में बड़ा उलट पर देखने को मिला जब इंग्लैंड और पाकिस्तान जैसी बड़ी टीम ग्रुप ए में नीचे रहकर बाहर हो गईं। ग्रुप बी में श्रीलंका, केन्या और न्यूजीलैंड ने पहले तीन स्थान पर कब्जा किया। इस ग्रुप में भी उलटफेर देखने को मिला जब दक्षिणी अफ्रीका और वेस्टइंडीज जैसी मजबूत टीमें बाहर हो गई।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1 ऑस्ट्रेलिया660024
2 भारत651020
3 ज़िम्बाब्वे632114
4 इंगलैंड633012
5 पाकिस्तान623110
6 नीदरलैंड61504
7 नामिबिया60600

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइअंक
1 श्रीलंका641018
2 केन्या642016
3 न्यूज़ीलैंड642016
4 दक्षिण अफ्रीका632014
5 वेस्ट इंडीज632114
6 कनाडा61504
7 बांग्लादेश60512

सुपर सिक्स स्टेज

सुपर सिक्स स्टेज में प्रवेश करने वाली 6 टीम में भारत, ऑस्ट्रेलिया, जिम्बॉब्वे, केन्या, श्रीलंका और न्यूजीलैंड थीं। सुपरसिक्स स्टेज में टॉप की 4 टीमों को सेमीफाइनल में प्रवेश मिलना था। सुपर सिक्स स्टेज में में भारत, ऑस्ट्रेलिया, केन्या और श्रीलंका में शानदार प्रदर्शन करते हुए टॉप चार में जगह बनाई। न्यूजीलैंड और जिंबाब्वे की टीम सुपर सिक्स से बाहर हो गई। इस तरह भारत, ऑस्ट्रेलिया, केन्या और श्रीलंका ने सेमीफाइनल में अपनी जगह बनाई।

पोजीशनटीममैचडब्ल्यूएलटाइ/कैंसिलअंक
1श्रीलंका641118
2केन्या642016
3न्यूज़ीलैंड642016
4दक्षिण अफ्रीका632114
5वेस्ट इंडीज632114
6कनाडा61504
7बांग्लादेश60502

सेमीफाइनल

सेमीफाइनल में आने वाली 4 टीमें भारत, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और केन्या थीं। पहला सेमीफाइनल 18 मार्च 2003 को ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच खेला गया। ऑस्ट्रेलिया में पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 212 रन बनाए जवाब में श्रीलंका की टीम 38.1 ओवर में 7 विकेट खोकर 123 रन ही बना सकी। ऑस्ट्रेलिया ने 48 रन से मैच जीत लिया। मैच का रिजल्ट डकवर्थ लुइस मैथड से निकालना पड़ा था क्योंकि बारिश के कारण मैच पूरा नही हो पाया।

दूसरा सेमीफाइनल 20 मार्च  2003 को भारत और केन्या के बीच खेला गया। भारत ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 4 विकेट खोकर 270 रन बनाए। जवबा में केन्या की टीम 46.4 ओवर में 179 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। इस तरह भारत ने दूसरी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई, जहां उसका सामना ऑस्ट्रेलिया से होना था।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल18 मार्च 2003ऑस्ट्रेलिया-श्रीलंकासेंट ऑफ जार्ज क्रिकेट ग्राउंड, पोर्ट एलिजाबेथऑस्ट्रेलिया 212/7 (50) श्रीलंका 123/7 (38.1)ऑस्टेलिया ने श्रीलंका को 48 रनो से हराया
दूसरा सेमीफाइनल20 मार्च 2003भारत-केन्याकिंग्समीड क्रिकेट स्टेडियम, डरबनऑस्ट्रेलिया 213/10 (49.2) दक्षिणी अफ्रीका 213/10 (49.4)भारत ने केन्या को 91 रनों से हराया

फाइनल

आठवें वनडे वर्ल्ड कप का फाइनल 23 मार्च 2003 को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 2 विकेट खोकर 359 रन का स्कोर खड़ा कर दिया, जवाब में भारतीय टीम 39.2 ओवर में केवल 234 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 125 रनों से हराकर अपना लगातार दूसरा और कुल तीसरा वनडे वर्ल्ड कप जीता।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल23 मार्च 2003भारत-ऑस्ट्रेलियावांडरर्स, जोहान्सबर्गऑस्ट्रेलिया 259/2 (50) भारत 234/10 (39.4)ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 125 रन से हराया

8वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 9 फरवरी 2003 से 23 मार्च 2003
  • मेजबान देश दक्षिण अफ्रीका, केन्या, जिम्बॉब्वे।
  • भाग लेने वाले देश 14
  • कुल मैच खेले गए 54
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट सचिन तेंदुलकर (भारत)
  • सबसे अधिक रन 673 – सचिन तेंदुलकर (भारत)
  • सबसे अधिक विकेट 23 – चमिंडा वास (श्रीलंका)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन ऑस्ट्रेलिया


नौवां वनडे वर्ल्ड कप (9th One-day World-cup)│वेस्टइंडीज 2007

नौवां वनडे वर्ल्ड कप अब एक अपने नए मुकाम पर पहुंच चुका था। आठवां वनडे वर्ल्ड कप इस बार वेस्टइंडीज के देशों में आयोजित किया गया। वेस्टइंडीज उ70 80 और 90 के दशक में एक बेहद ताकतवर टीम मानी जाती थी लेकिन अभी तक वेस्टइंडीज के देशों में वनडे वर्ल्ड कप का आयोजन नहीं किया गया था। इस बार आईसीसी ने 2007 का आठवां वनडे वर्ल्ड कप वेस्टइंडीज के देशों में आयोजित करने का निर्णय लिया गया।

नौवां वनडे वर्ल्ड कप 13 मार्च 2007 से 28 अप्रैल 2007 के बीच वेस्टइंडीज में आयोजित किया गया। इस वनडे वर्ल्ड कप में कुल 16 देशों ने भाग लिया था और कल 51 मैच खेले गए थे। इस बार टूर्नामेंट का प्रारूप पिछले सभी वर्ल्ड कप से अलग था।

इस बार भाग लेने वाली सभी 16 टीमों को चार-चार टीमों के चार ग्रुप में बांटा गया। टूर्नामेंट का प्रारूप इस प्रकार रखा गया कि हर ग्रुप से टॉप की दो टीमें अगले नॉकआउट चरण सुपर-8 में प्रवेश करने वाली थीं। नौवें वनडे वर्ल्ड कप में टेस्ट मैच खेलने वाले सभी 10 देशों और 6 एसोसियेट देशों ने भाग लिया।

9वें वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले 16 देश के नाम इस प्रकार थे…

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. इंग्लैंड
  4. न्यूजीलैंड
  5. दक्षिण अफ्रीका
  6. वेस्टइंडीज
  7. पाकिस्तान
  8. बांग्लादेश
  9. श्रीलंका
  10. जिम्बॉब्वे
  11. बरमूडा
  12. केन्या
  13. नीदरलैंड
  14. कनाडा
  15. आयरलैंड
  16. स्कॉटलैंड

इन सभी 16 देश की टीमों को चार-चार टीमों के ग्रुप में बांटा गया। ग्रुप ए, ग्रुप बी, ग्रुप सी और ग्रुप डी।

ग्रुप ‘A’ग्रुप B’ग्रुप ‘C’ग्रुप ‘D’
 ऑस्ट्रेलियाभारत न्यूज़ीलैंड पाकिस्तान
 दक्षिण अफ़्रीका श्रीलंका इंग्लैंड वेस्ट इंडीज
 स्कॉटलैंड बांग्लादेश केन्या ज़िम्बाब्वे
 नीदरलैंड बरमूडा कनाडा आयरलैंड

ग्रुप स्टेज

ग्रुप स्टेज के मैचों का आरंभ 14 मार्च 2007 से हो गया। ग्रुप ए में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका ने टॉप 2 में अपनी जगह बनाई। नीदरलैंड और स्कॉटलैंड बाहर हो गए। ग्रुप बी में श्रीलंका और बांग्लादेश ने टॉप 2 में जगह बनाई। भारत जैसी बड़ी टीम के लिए यह वर्ल्ड कप अच्छा नहीं रहा, और वह ग्रुप स्टेज में ही बाहर हो गई। उसके साथ बरमूडा की टीम भी ग्रुप स्टेज से बाहर हो गई।

ग्रुप सी में न्यूजीलैंड और इंग्लैंड ने टॉप 2 में जगह बनाई। केन्या और कनाडा बाहर हो गई। ग्रुप डी से वेस्टइंडीज और आयरलैंड ने टॉप 2 में जगह बनाई। इस ग्रुप में भी उलट फिर हुआ और पाकिस्तान जैसी मजबूत टीम भी पहले चरण में ही बाहर हो गई।

इस तरह ग्रुप स्टेज में भारत और पाकिस्तान जैसी बड़ी टीमें पहले चरण में ही बाहर हो गईं, जिससे वनडे वर्ल्ड कप का रोमांच पीका पड़ गया। अब हर ग्रुप से टॉप की दो टीमों ने अगले चरण यानी सुपर-8 के लिए क्वालीफाई कर लिया था।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइ/कैंसिलअंक
1ऑस्ट्रेलिया33006
2दक्षिण अफ्रीका32104
3नीदरलैंड31202
4स्कॉटलैंड30300

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइ/कैंसिलअंक
1श्रीलंका33006
2बांग्लादेश32104
3भारत31202
4बरमूडा30300

सुपर 8 चरण

सुपर-8 में पहुंचने वाली 8 टीमें ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, बांग्लादेश और आयरलैंड थीं। सुपर-8 का प्रारूप राउंड रोबिन आधार पर रखा गया यानी सभी आठ टीमों को एक टीम को छोड़कर बाकी 6 टीमों से एक-एक मैच खेलना था।

सुपर-8 में ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, न्यूजीलैंड और दक्षिणी अफ्रीका ने पहले चार स्थान पर कब्जा करके सेमीफाइनल में अपनी जगह बनाई। नीचे पॉइंट टेबल में सात मैच में दिए गए हैं, जबकि सुपर-8 में हर टीम ने केवल 6 मैचे खेले। इसका मुख्य कारण यह है कि इसमें एक मैच ग्रुप स्टेज का रिजल्ट भी शामिल है। वह ग्रुप मैच जो एक टीम ने अपने ग्रुप की उस टीम के साथ खेला था, जो सुपर-8 के लिए क्वालिफाई की।

इसी कारण सुपर-8 के चरण हर टीम बाकी सात टीमों में केवल उसी टीम के साथ मैच नही खेला जो ग्रुप स्टेज में उसकी साथ थी।

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइ/कैंसिलअंक
1ऑस्ट्रेलिया770014
2श्रीलंका752010
3न्यूज़ीलैंड752010
4दक्षिण अफ्रीका74308
5इंग्लैंड73406
6वेस्ट इंडीज72504
7बांग्लादेश71602
8आयरलैंड71602

सेमीफाइनल

सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चार टीमें ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, श्रीलंका और दक्षिणी अफ्रीका थीं। पहला सेमीफाइनल 24 अप्रैल 2007 को किंग्सटन में सबीना पार्क में खेला गया। पहले सेमीफाइनल में श्रीलंका ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 5 विकेट खोकर 289 रन बनाएय़ जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 41.4 ओवर में केवल 208 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। इस तरह श्रीलंका ने न्यूजीलैंड को 81 रन से हराकर दूसरी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में प्रवेश किया।

दूसरे सेमीफाइनल में 25 अप्रैल 2007 को ऑस्ट्रेलिया का मुकाबला दक्षिण अफ्रीका से हुआ। दक्षिण अफ्रीका ने पहले बैटिंग करते हुए 43.5 ओवर में कुल 149 रन बनाए और ऑल आउट हो गई। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 31.3 ओवर में ही 3 विकेट खोकर 153 रन बनाकर मैच जीत लिया। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट से मैच जीत कर वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल फाइनल में पाँचवी बार जगह बनाई।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल24 अप्रेल 2007श्रीलंका-न्यूजीलैंडसबीना पार्क, किंग्सटनश्रीलंका 289/5 (50) न्यूजीलैंड 208/10 (41.4)श्रीलंका ने न्जूजीलैंड को 81 रन से हराया
दूसरा सेमीफाइनल25 अप्रेल 2007ऑस्ट्रेलिया-दक्षिणी अफ्रीकाब्यूजजोर स्टेडियम, ग्रोस आइलेटदक्षिणी अफ्रीका 149/10 (43.5) ऑस्ट्रेलिया 153/3 (31.3)ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिणी अफ्रीका को 7 विकेट से हराया।

फाइनल

फाइनल मुकाबला 28 अप्रैल 2007 को ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच खेला गया। फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने 38 ओवर में चार विकेट खोकर 281 रन बनाए। जवाब में श्रीलंका की टीम 36 ओवर में 8 विकेट खोकर केवल 215 रन ही बना सकी। बरसात के कारण मैच 50 ओवर से केवल 38 ओवर का ही खेला जा सका।

इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को 53 रन से हराकर वर्ल्ड कप का अपना चौथा खिताब जीता। उसने यह खिताब लगातार तीसरी बार जीता था और कुल चौथी बार जीता था। इस तरह ऑस्ट्रेलिया वनडे वर्ल्ड कप चार बार जीतने वाली और लगातार तीन बार वर्ल्ड कप जीतने वाली पहली टीम बन गई।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल28 अप्रेल 2007ऑस्ट्रेलिया-श्रीलंकाकेंग्सिटन ओवल, ब्रिजटाउनऑस्ट्रेलिया 281/4 (38) श्रीलंका 215/8 (36)ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को 53 रन से हराया

9वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 13 मार्च 2007 से 28 अप्रेल 2007
  • मेजबान देश वेस्टइंडीज
  • भाग लेने वाले देश 16
  • कुल मैच खेले गए 51
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट ग्लेन मैक्ग्राथ (ऑस्ट्रेलिया)
  • सबसे अधिक रन 659 – मैथ्यू हैडन (ऑस्ट्रेलिया)
  • सबसे अधिक विकेट 23 – ग्लेन मैक्ग्राथ (ऑस्ट्रेलिया)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन ऑस्ट्रेलिया


दसवां वनडे वर्ल्ड कप (10th One-day World-cup)│भारत-श्रीलंका-बांग्लादेश 2011

दसवां वनडे वर्ल्ड कप 2011 में एक बार फिर से भारतीय उपमहाद्वीप में खेला गया। इस बार भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश ने 10वें वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी संयुक्त रूप से की थी। दसवां वनडे वर्ल्ड कप भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका में 9 फरवरी 2011 से 2 अप्रैल 2011 के बीच खेला गया। इस वनडे वर्ल्ड कप में कुल 14 टीमों ने भाग लिया था और कुल 49 मैच खेले गए। 14 टीमों में 10 टीमे टेस्ट मैच खेलने वाली टीम थीं तथा चार टीमें एसोसिएट सदस्य के रूप में भाग ले रही थीं। इस वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले 14 टीमों के नाम इस प्रकार हैं..

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. न्यूजीलैंड
  4. इंग्लैंड
  5. पाकिस्तान
  6. दक्षिणी अफ्रीका
  7. वेस्ट इंडीज
  8. श्रीलंका
  9. जिम्बॉब्वे
  10. बांग्लादेश
  11. केन्या
  12. कनाडा
  13. आयरलैंड
  14. नीदरलैंड

दसवें वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले सभी 14 देश को 7-7 टीमों के दो ग्रुप में बांटा गया, ग्रुप ए और ग्रुप बी।

ग्रुप ‘A’ग्रुप ‘B’
ऑस्ट्रेलियाभारत
पाकिस्तानदक्षिणी अफ्रीका
श्रीलंकावेस्टइंडीज
न्यूजीलैंडइंग्लैंड
जिम्बॉब्वेआयरलैंड
कनाडानीदरलैंड
केन्याबांग्लादेश

ग्रुप स्टेज

इस टूर्नामेंट का फॉर्मेट इस प्रकार था कि सभी 14 टीमों को 7-7 टीमों के दो ग्रुप में बांटा गया। हर ग्रुप में से टॉप की चार टीमों को अगले दौर यानी क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई करना था। सभी टीमों ग्रुप मैचों का आरंभ 2 फरवरी 2011 से हो गया।

ग्रुप ए में ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और श्रीलंका ने टॉप करते हुए पहले चार स्थान में जगह बनाई और अगले नॉक आउट चरण के लिए क्वालीफाई किया। जिम्बॉब्वे, कनाडा और केन्या की टीम बाहर हो गईं। ग्रुप बी में भारत, दक्षिणी अफ्रीका, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज ने टॉप के चार स्थानों में जगह बनाई और अगले नॉकआउट चरण के लिए क्वालीफाई किया। बांग्लादेश, आयरलैंड और नीदरलैंड की टीम बाहर हो गईं।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारटाइ/कैंसिलअंक
1पाकिस्तान651010
2श्रीलंका64109
3ऑस्ट्रेलिया64109
4न्यूज़ीलैंड64208
5ज़िम्बाब्वे62404
6कनाडा61502
7केन्या60600

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइ/कैंसिलअंक
1दक्षिण अफ्रीका651010
2भारत64119
3इंग्लैंड63217
4वेस्टइंडीज63306
5बांग्लादेश63306
6आयरलैंड62404
7नीदरलैंड60600

क्वार्टरफाइनल

क्वावर्टर फाइनल में प्रवेश करने वाली आठ टीमें भारत, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, श्रीलंका, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, दक्षिणी अफ्रीका और न्यूजीलैंड थी। क्वार्टर फाइनल मैचों का आरंभ  23 मार्च 2011 से हुआ। पहले क्वार्टर फाइनल मैच 23 मार्च 2011 को वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के बीच खेला गया, जिसमें पाकिस्तान ने वेस्टइंडीज को 10 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

दूसरा क्वार्टर फाइनल 24 मार्च 2011 को ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच खेला गया जिसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 5 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। तीसरा क्वार्टर फाइनल मैच 25 मार्च 2011 को न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच हुआ, जिसमें न्यूजीलैंड ने दक्षिणी अफ्रीका को 49 रन से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। चौथा क्वार्टर फाइनल 26 मार्च 2011 को इंग्लैंड और श्रीलंका के बीच हुआ, जिसमें श्रीलंका ने इंग्लैंड को 10 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला क्वार्टरफाइनल23 मार्च 2011वेस्टइंडीज-पाकिस्तानशेर बांग्ला नेशनल क्रिकेट स्टेडियम, ढाकावेस्टइंडीज 112 (43.3 ओवर) पाकिस्तान 113/0 (20.5 ओवर)पाकिस्तान ने वेस्टइंडीज को 10 विकेट से हराया
दूसरा क्वार्टरफाइनल24 मार्च 2011भारत-ऑस्ट्रेलियासरदार पटेल मोटेरा स्टेडियम, अहमदाबादऑस्ट्रेलिया 260/6 (50 ओवर) भारत 261/5 (47.4 ओवर)भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 5 विकेट से हराया
तीसरा क्वार्टरफाइनल25 मार्च 2011न्यूजीलैंड-दक्षिणी अफ्रीकाशेरे बांग्ला नेशनल क्रिकेट स्टेडियम, ढाकान्यूज़ीलैंड 221/8 (50 ओवर) दक्षिण अफ़्रीका 172 (43.2 ओवर)न्यूजीलैंड ने दक्षिण अफ्रीका को 49 रन से हराया
चौथा क्वार्टरफाइनल26 मार्च 2011इंग्लैंड-श्रीलंकाआर प्रेमदासा स्टेडियम, कोलंबोइंग्लैंड 229/6 (50 ओवर) श्रीलंका 231/0 (39.3 ओवर)श्रीलंका ने इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया

सेमीफाइनल

सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चार टीमें भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका थीं। पहला सेमीफाइनल 29 मार्च 2011 को न्यूजीलैंड और श्रीलंका के बीच हुआ। श्रीलंका ने न्यूजीलैंड को पांच विकेट से हराकर तीसरी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में प्रवेश किया। दूसरा सेमीफाइनल 30 मार्च 2011 को भारत और ऑस्ट्रेलिया के पाकिस्तान के बीच हुआ। भारत ने पाकिस्तान को 29 रन से हराकर तीसरी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में प्रवेश किया।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल29 मार्च 2011न्यूजीलैंड-श्रीलंकाआर प्रेमदासा स्टेडियम, कोलंबोन्यूज़ीलैंड  217 (48.5 ओवर) श्रीलंका 220/5 (47.5 ओवर)श्रीलंका ने न्यूजीलैंड को 5 विकेट से हराया
दूसरा सेमीफाइनल30 मार्च 2011भारत-पाकिस्तानआईएस बिंद्रा पंजाब क्रिकेट एसोसियेशन एसोसिएशन स्टेडियम, मोहालीभारत 260/9 (50 ओवर) पाकिस्तान 231 (49.5 ओवर)भारत ने पाकिस्तान को 29 रन से हराया

फाइनल

वर्ल्ड कप का फाइनल मैच 2 अप्रैल 2011 को भारत और श्रीलंका के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुआ। इस मैच में श्रीलंका ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 6 विकेट कोकर 274 रन बनाए। जवाब में भारत की टीम ने गौतम गंभीर के 97 और महेंद्र सिंह धोनी के 91 रन की बदौलत 48.2 ओवर में चार विकेट खोकर 277 रन बनाए और दूसरी बार वनडे वर्ल्ड कप का चैंपियन होने का गौरव प्राप्त किया।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल2 अप्रेल 2011भारत-श्रीलंकावानखेड़े स्टेडियम, मुंबईश्रीलंका 274/6 (50 ओवर) भारत 277/4 (48.2 ओवर)भारत ने श्रीलंका को 6 विकेट से हराया

10वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 9 फरवरी 2011 से 2 अप्रेल 2011
  • मेजबान देश भारत, श्रीलंका, बांग्लादेश
  • भाग लेने वाले देश 14
  • कुल मैच खेले गए 49
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट युवराज सिंह (भारत)
  • सबसे अधिक रन 500 – तिकरत्ने दिलशान ((श्रीलंका)
  • सबसे अधिक विकेट 21 – जहीर खान (भारत) और शाहिद आफरीदी (पाकिस्तान)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन भारत


ग्यारहवाँ वनडे वर्ल्ड कप (11th One-day World-cup)│ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड 2015

ग्यारहवां वनडे वर्ल्ड कप 2015 में ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड ने संयुक्त रूप से आयोजित किया।

11वां वनडे वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में 14 फरवरी 2015 से 29 मार्च 2015 के बीच खेला गया। पिछले वर्ल्ड कप की तरह इस वनडे वर्ल्ड कप में भी कुल 14 टीमों ने भाग लिया था और कुल 49 मैच खेले गए। सभी 14 टीमों में 10 टीमे टेस्ट मैच खेलने वाली टीम थीं तथा चार टीमें एसोसिएट सदस्य के रूप में भाग ले रही थीं। इस वर्ल्ड कप में पिछले वर्ल्ड कप की तीन टीमें बदल गईं।

इस बार केन्या और कनाडा वर्ल्ड कप के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई। उनकी जगह संयुक्त अरब अमीरात और स्कॉटलैंड की टीम वर्ल्ड कप में खेलीं। उसके अलावा नीदरलैंड भी वर्ल्ड कप के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई और उसकी जगह अफगानिस्तान की टीम ने वर्ल्ड कप में पहली बार भाग लिया।

सभी दस टेस्ट मैच खेलने वाले देशों के अलावा केवल आयरलैंड की टीम ही पिछले वर्ल्ड कप की थी। आयरलैंड और अफगानिस्तान वर्ल्ड क्रिकेट लीग चैंपियनशिप के विजेता और उपविजेता थे। इस कारण उन्हें 11वें वर्ल्ड कप में प्रवेश मिला। संयुक्त अरब अमीरात और अफगानिस्तान ने वर्ल्ड कप क्वालीफायर राउंड में अपने मैच जीत कर वर्ल्ड कप में प्रवेश किया।

इस वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले 14 टीमों के नाम इस प्रकार हैं..

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. न्यूजीलैंड
  4. इंग्लैंड
  5. पाकिस्तान
  6. दक्षिणी अफ्रीका
  7. वेस्ट इंडीज
  8. श्रीलंका
  9. जिम्बॉब्वे
  10. बांग्लादेश
  11. अफगानिस्तान
  12. संयुक्त अरब अमीरात
  13. आयरलैंड
  14. स्कॉटलैंड

11वें वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले सभी 14 देश को 7-7 टीमों के दो ग्रुप में बांटा गया, ग्रुप ए और ग्रुप बी।

ग्रुप ‘A’ग्रुप ‘B’
ऑस्ट्रेलियाभारत
न्यूजीलैंडदक्षिणी अफ्रीका
इंग्लैंडवेस्टइंडीज
बांग्लादेशपाकिस्तान
श्रीलंकाआयरलैंड
स्कॉटलैंडजिम्बॉब्वे
अफगानिस्तानसंयुक्त अरब अमीरात

ग्रुप स्टेज

इस टूर्नामेंट का फॉर्मेट पिछले वर्ल्ड कप जैसा ही था कि सभी 14 टीमों को 7-7 टीमों के दो ग्रुप में बांटा गया। हर ग्रुप में से टॉप की चार टीमों को अगले दौर यानी क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई करना था। सभी टीमों ग्रुप मैचों का आरंभ 14 फरवरी 2015 से हो गया।

ग्रुप ए में ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, श्रीलंका और बांग्लादेश ने टॉप करते हुए पहले चार स्थान में जगह बनाई और अगले नॉक आउट चरण के लिए क्वालीफाई किया। इंग्लैड, अफगानिस्तान और स्कॉटलैंड की टीमें बाहर हो गईं।

ग्रुप बी में भारत, दक्षिणी अफ्रीका, पाकिस्तान और वेस्टइंडीज ने टॉप के चार स्थानों में जगह बनाई और अगले नॉकआउट चरण के लिए क्वालीफाई किया। आयरलैंड, जिम्बॉब्वे और संयुक्त अरब अमीरात की टीमें बाहर हो गईं।

ग्रुप ‘A’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइ/कैंसिलअंक
1न्यूज़ीलैंड660012
2ऑस्ट्रेलिया64109
3श्रीलंका64208
4बांग्लादेश63207
5इंगलैंड62404
6अफ़ग़ानिस्तान61502
7स्कॉटलैंड60600

ग्रुप ‘B’ की प्वाइंट टेबल

पोजीशनटीममैचजीतेहारेटाइ/कैंसिलअंक
1 भारत660012
2 दक्षिण अफ्रीका64208
3पाकिस्तान64208
4वेस्टइंडीज63306
5आयरलैंड63306
6ज़िम्बाब्वे61502
7संयुक्त अरब अमीरात60600

क्वार्टर-फाइनल

क्वार्टर फाइनल में प्रवेश करने वाली 8 टीम में ग्रुप ए से न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और बांग्लादेश तथा ग्रुप बी से भारत, पाकिस्तान, दक्षिणी अफ्रीका और वेस्टइंडीज थी। न्यूजीलैंड ने ग्रुप ए में टॉप किया था तथा भारत ने ग्रुप बी में टॉप किया था।

क्वार्टर फाइनल में सभी आठ टीमों को किसी दूसरी टीम से एक बार भिड़ना था और जीतकर सीधे सेमीफाइनल का टिकट कटाना था। क्वार्टर फाइनल मैच 18 मार्च 2015 से आरंभ हो गए।

पहले क्वार्टर फाइनल में 18 मार्च 2015 को श्रीलंका और दक्षिणी अफ्रीका का आमना सामना हुआ। दक्षिणी अफ्रीका ने श्रीलंका को 9 विकेट से हराकर पहला क्वार्टर फाइनल जीत लिया और सेमीफाइनल में पहुंचने बनने वाली पहली टीम बनी।

19 मार्च 2015 को दूसरे क्वार्टरफाइनल में भारत और बांग्लादेश का मुकाबला हुआ, जिसमें भारत ने बांग्लादेश को 109 रन से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

20 मार्च 2015 को तीसरी क्वार्टरफाइनल में ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान का आमना-सामना हुआ, जिसमें आस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 6 विकेट से हराकर सेमीफाइनल की तीसरी टीम बनी।

चौथे क्वार्टर फाइनल में 21 मार्च 2015 को न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज का मैच हुआ जिसमें न्यूजीलैंड ने वेस्टइंडीज को 143 रन से हराकर चौथा क्वार्टर फाइनल जीत लिया और न्यूजीलैंड सेमीफाइनल में प्रवेश करने वाली चौथी टीम बनी।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला क्वार्टरफाइनल18 मार्च 2015श्रीलंका-दक्षिणी अफ्रीकासिडनी क्रिकेट ग्राउंड, सिडनीश्रीलंका 133 (37.2 ओवर) दक्षिण अफ़्रीका 134/1 (18 ओवर)दक्षिणी अफ्रीका ने श्रीलंका को 9 विकेट से हराया
दूसरा क्वार्टरफाइनल19 मार्च 2015भारत-बांग्लादेशमेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड, मेलबॉर्नभारत 302/6 (50 ओवर) बांग्लादेश 193 (45 ओवर)भारत ने बांग्लादेश को 109 रन से हराया
तीसरा क्वार्टरफाइनल20 मार्च 2015ऑस्ट्रेलिया-पाकिस्तानएडीलेड ओवल, एडिलेडपाकिस्तान  213 (49.5 ओवर) ऑस्ट्रेलिया 216/4 (33.5 ओवर)ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 6 विकेट से हराया
चौथा क्वार्टरफाइनल21 मार्च 2015न्यूजीलैंड-वेस्टइंडीजवेलिंगटन रीजनल स्टेडियम, वेलिंगटनन्यूज़ीलैंड  393/6 (50 ओवर) वेस्टइंडीज 250 (30.3 ओवर)न्यूजीलैंड ने वेस्टइंडीज को 141 रन से हराया

सेमीफाइनल

सेमीफाइनल में भारत, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड ये चारों टीमें पहुंची थीं।

पहला सेमीफाइनल 24 मार्च 2015 को दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड के बीच ऑकलैंड के ईडन पार्क स्टेडियम में खेला गया। दक्षिण अफ्रीका ने पहले बैटिंग करते हुए 43 ओवर में 5 विकेट खोकर 281 रन बनाए। जवाब में न्यूजीलैंड की टीम ने 42.5 ओवर में 1 विकेट खोकर 299 रन बनाकर 4 विकेट से मैच जीत लिया। बारिश के कारण बाधित होने के कारण इस मैच का निर्णय डकवर्थ लुईस पद्धति के आधार पर हुआ था। इसी कारण न्यूजीलैंड को 299 रन का लक्ष्य मिला था।

दूसरे सेमीफाइनल में भारत और ऑस्ट्रेलिया का आमना-सामना हुआ। 26 मार्च 2015 को खेले गए दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 328 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम 46.5 ओवर में केवल 245 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने 95 रन से मैच जीत लिया।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल24 मार्च 2015न्यूजीलैंड-दक्षिणी अफ्रीकाईडेन पार्क, ऑकलैंडदक्षिण अफ़्रीका 281/5 (43 ओवर) न्यूज़ीलैंड 299/6 (42.5 ओवर)न्यूजीलैंड ने दक्षिण अफ्रीका को डकवर्थ लुईस पद्धति के तहत 4 विकेट से हराया
दूसरा सेमीफाइनल26 मार्च 2015भारत-ऑस्ट्रेलियासिडनी क्रिकेट ग्राउंड, सिडनीऑस्ट्रेलिया 328/7 (50 ओवर) भारत 233 (46.5 ओवर)ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 95 रन से हराया

सेमीफाइनल

11वें वर्ल्ड कप का फाइनल मैच 29 मार्च 2015 को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच हुआ। ऑस्ट्रेलिया 7वीं बार वर्ल्ड कप का फाइनल खेल रहा था। जबकि न्यूजीलैंड पहली बार वर्ल्ड कप का फाइनल खेला रहा था।

ऑस्ट्रेलिया इससे पहले 6 बार फाइनल खेलकर चार फाइनल मैच जीत चुका था। दोनों टीमों का आमना-सामना मेलबर्न के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड स्टेडियम में हुआ। दोनों मेजबान देश थे, यानी जो चैंपियन बनना था, वह मेजबान देश ही बनना था। न्यूजीलैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 45 ओवर में कुल 183 रन बनाए और उसकी पूरी टीम ऑल आउट हो गई। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने मात्र 33.1 ओवर में 3 विकेट खोकर 186 रन बना लिए और न्यूजीलैंड को 7 विकेट से हराकर मैच जीत लिया।

इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने 11वें वनडे वर्ल्ड कप का फाइनल जीतकर पांचवीं बार चैंपियन बनने का गौरव प्राप्त किया। ऑस्ट्रेलिया विश्व की एकमात्र ऐसी टीम बन गई, जिसने 5 बार आईसीसी वर्ल्ड कप जीता हो। 3 बार तो उसने 1999, 2003 और 2007 में लगातार वर्ल्ड कप जीते थे।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल29 मार्च 2015ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंडमेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड, मेलबर्नश्रीलंका 274/6 (50 ओवर) भारत 277/4 (48.2 ओवर)ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को 7 विकेट से हराकर वर्ल्ड कप जीता

11वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 14 फरवरी 2015 से 29 मार्च 2015 तक
  • मेजबान देश ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड
  • भाग लेने वाले देश 14
  • कुल मैच खेले गए 49
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट मिशेल स्टार्क (ऑस्ट्रेलिया)
  • सबसे अधिक रन 547 – मार्टिन गप्टिल (न्यूजीलैंड)
  • सबसे अधिक विकेट 22 – मिशेल स्टार्क (ऑस्ट्रेलिया) और 22 – ट्रेंट बोल्ड (न्यूजीलैंड)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन ऑस्ट्रेलिया


बारहवां वनडे वर्ल्ड कप (12th One-day World-cup)│इंग्लैंड 2019

12वां वनडे वर्ल्ड कप एक बार फिर इंग्लैंड में आयोजित किया गया। यह पांचवा वनडे वर्ल्ड कप था जो इंग्लैंड में आयोजित किया जा रहा था।

12वां वनडे वर्ल्ड कप इंग्लैंड और वेल्स में 30 मई 2019 से 14 जुलाई 2019 के बीच आयोजित किया गया। इस बार वनडे वर्ल्ड कप का प्रारूप बिल्कुल ही बदल दिया गया था। इस बार वनडे वर्ल्ड कप में केवल 10 देशों ने ही भाग लिया क्योंकि आईसीसी ने वनडे वर्ल्ड कप की क्वालिटी में और सुधार करने के लिए उच्च रैंकिंग वाले 10 देश के बीच ही टूर्नामेंट आयोजित कराने का निर्णय लिया गया था।।

इस टूर्नामेंट का प्रारूप पिछले दो-तीन वर्ल्ड कप टूर्नामेंट से अलग था। इस इस बार 1992 के राउंड रोबिन टूर्नामेंट को ही फॉलो किया गया यानी सभी 10 टीमों को दो अलग-अलग ग्रुपों में नहीं बांटा गया बल्कि सभी 10 टीमों के बीच राउंड रोबिन आधार पर मैच कराए गए। इसका मतलब था कि सभी 10 टीमों में से हर टीम को बाकी 9 टीमों से एक बार मैच खेलने था। 12वें वनडे वर्ल्ड कप में कुल 10 देशों ने भाग लिया जिनके बीच कुल 48 मैच हुए।

12वें वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाले 10 देश के नाम इस प्रकार हैं…

  1. भारत
  2. ऑस्ट्रेलिया
  3. इंग्लैंड
  4. न्यूजीलैंड
  5. पाकिस्तान
  6. श्रीलंका
  7. दक्षिण अफ्रीका
  8. बांग्लादेश
  9. वेस्टइंडीज
  10. अफगानिस्तान

टूर्नामेंट का प्रारूप कुछ इस तरह था कि लीग मैचों में टॉप की 4 टीमों को सीधे अगले चरण यानि सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई करना था। इस टूर्नामेंट में कोई क्वार्टर फाइनल नही था बल्कि लीग मैचों के बाद सीधे सेमी-फाइनल और फाइनल थे।

लीग मैचों का आरंभ 14 जुलाई 2019 को हो गया, जब पहले मैच में इंग्लैंड और दक्षिणी अफ्रीका खेले। आखिर लीग मैच 6 जुलाई को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। लीग मैचों की संख्या कुल 45 थी। लीग मैचों का चरण खत्म होने के बाद भारत, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड ने पहले चार स्थानों में जगह बनाते हुए सीधे सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज, श्रीलंका, बांग्लादेश और अफगानिस्तान की टीम टूर्नामेंट से बाहर हो गईं। लीग मैचों में भारत ने टेबल को टॉप किया और उसके सबसे अधिक 14 अंक थे। भारत ने लीग मैच में अपने 9 में से से 7 मैच जीते 1 मैच हारा और उसका एक मैच बिना खेल रद्द कर हो गया था। ऑस्ट्रेलिया ने भी सात मैच जीते और दो मैच हारे इसलिए वह टेबल में दूसरे स्थान पर रहा। इंग्लैंड तीसरे तथा न्यूजीलैंड चौथे स्थान पर रहा।

टूर्नामेंट के लीग मैचों की प्वाइंट टेबल

क्रमटीममैचजीतेहारेटाइ/ड्राअंकनेट रन रेटपरिणाम
1भारत971115+0.809सेमीफाइनल में पहुंचे
2ऑस्ट्रेलिया972014+0.868
3इंग्लैंड963012+1.152
4न्यूज़ीलैंड953111+0.175
5पाकिस्तान953111−0.430टूर्नामेंट से बाहर
6श्रीलंका93428−0.919
7दक्षिण अफ्रीका93517−0.030
8बांग्लादेश93517-0.410
9वेस्ट इंडीज92615−0.225
10अफ़ग़ानिस्तान90900−1.322

सेमीफाइनल

सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चार टीमें भारत, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड थीं।

पहला सेमीफाइनल भारत और न्यूजीलैंड के बीच 9 जुलाई 2019 को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान में खेला गया। न्यूजीलैंड ने 50 ओवर में 8 विकेट होकर कल 239 रन बनाए। जैसे ही भारत की पारी आरंभ हुई बारिश हो गई, इस कारण मैच उस दिन मैच संपन्न नहीं हो पाया। अगले दिन रिजर्वडे के दिन मैच को खेला गया। जवाब में भारत की टीम 49.3 ओवर में केवल 221 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। इस तरह न्यूजीलैंड ने 18 रनों से मैच जीत कर लगातार दूसरी बार टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया। वह 2015 के वर्ल्ड कप फाइनल में भी ऑस्ट्रेलिया के साथ खेला था।

दूसरा सेमीफाइनल 11 जुलाई 2019 को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए 49 ओवर में कल 223 रन ही बनाए और उसकी पूरी टीम ऑल आउट हो गई। जवाब में इंग्लैंड की टीम ने 32.8 ओवर में मात्र दो विकेट होकर 226 रन बनाकर 8 विकेट से मैच जीत लिया और वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया। इंग्लैंड चौथी बार वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचा था।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
पहला सेमीफाइनल9-10 अप्रेल 2019भारत-न्यूजीलैंडओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टरन्यूज़ीलैंड 239/8 (50 ओवर) भारत 221 (49.3 ओवर)न्यूजीलैंड ने भारत को 18 रन से हराया
दूसरा सेमीफाइनल11 अप्रेल 2019इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलियाएजबेस्टन, बर्मिघमऑस्ट्रेलिया 223 (49 ओवर) इंग्लैंड 226/2 (32.1 ओवर)इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराया

फाइनल

12वें वर्ल्ड कप का फाइनल मैच 14 जुलाई 2019 को इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच लंदन के लॉर्ड्स मैदान में खेला गया। न्यूजीलैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में 8 विकेट खोकर कल 241 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड की टीम भी 50 ओवर में 241 रन बनाकर और ऑल आउट हो गई।

इस तरह दोनों टीमों के बीच मैच टाई हो गया। अब मैच का नतीजा निकलने के लिए सुपर ओवर कराया गया। सुपर ओवर में भी दोनों टीमों का स्कोर बराबर रहा यानी इंग्लैंड और न्यूजीलैंड दोनों ने 15-15 रन ही बनाएय़ ऐसी स्थिति में मैच का फैसला करने के लिए बाउंड्री की संख्या को आधार बनाया गया तो इंग्लैंड ने अधिक बाउंड्री लगाई थी, इसी कारण इंग्लैंड को विश्व विजेता घोषित कर दिया गया।

इस तरह इंग्लैंड ने पहली बार वनडे क्रिकेट वर्ल्ड कप का टूर्नामेंट जीता और वर्ल्ड चैंपियन बनने का गौरव प्राप्त किया।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल14 अप्रेल 2019इंग्लैंड-न्यूजीलैंडमेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड, मेलबर्नन्यूजीलैंड 241/8 (50 ओवर) इंग्लैंड 241 (50 ओवर)(टाइ) इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को ज्यादा चौके लगाने के आधार पर हराया

12वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया 30 मई 2019 से 14 जुलाई 2019
  • मेजबान देश इंग्लैंड-वेल्स
  • भाग लेने वाले देश 10
  • कुल मैच खेले गए 48
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट केन विलियमसन (न्यूजीलैंड)
  • सबसे अधिक रन 348 – रोहित शर्मा (भारत)
  • सबसे अधिक विकेट 27 – मिशेल स्टार्क (ऑस्ट्रेलिया)
  • टूर्नामेंट का चैंपियन इंग्लैंड


तेरहवाँ वनडे वर्ल्ड कप (13th One-day World-cup)│भारत-2019

13वां वनडे वर्ल्ड कप भारत में 5 अक्टूबर 2023 से 19 नवंबर 2023 के बीच भारत मे खेला गया। इस वनडे वर्ल्ड कप में भी कुल 10 टीमों े भाग लिया।

13वें वनडे वर्ल्ड कप का फॉर्मेट पिछला वर्ल्ड कप पर जैसा ही था यानी सभी 10 टीमों के बीच राउंड रोबिन आधार पर मैच खेलने थे। इस तरह कुल 45 लीग मैचों हुए और तीन मैच नॉक आउट चरण (2 सेमीफाइनल और फाइनल) के हुए।

यह पहला वनडे वर्ल्ड कप है जो पूरी तरह भारत में आयोजित किया गया था। इससे पहले भारत में जो भी तीन वनडे वर्ल्ड कप हुए हैं, वह संयुक्त मेजबानी में हुए हैं यानी भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश, पाकिस्तान और श्रीलंका भी सह मेजबान रहे थे। इस वनडे वर्ल्ड कप का मेजबान अकेला भारत था।

13वें वनडे वर्ल्ड कप में भाग लेने वाली 10 टीमें इस प्रकार थीं..

  1. भारत
  2. इंग्लैंड
  3. ऑस्ट्रेलिया
  4. न्यूजीलैंड
  5. पाकिस्तान
  6. श्रीलंका
  7. बांग्लादेश
  8. अफगानिस्तान
  9. दक्षिण अफ्रीका
  10. नीदरलैंड

इस वनडे वर्ल्ड कप में पहले दो कप की वर्ल्ड कप विजेता वेस्टइंडीज की टीम भाग नहीं ले पाई है, क्योंकि वह वर्ल्ड कप के लिए क्वालीफाई करने में असमर्थ रही थी। ये पहली बार था कि कोई चैंपियन टीम वनडे वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाई तक नही कर पाई।

टूर्नामेंट का उद्घाटन मैच भी 5 अक्टूबर 2023 को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लैंड एवं न्यूजीलैंड के बीच खेला गया। टूर्नामेंट का फाइनल मैच 19 नवंबर 2023 को ही अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला गया।

इस टूर्नामेंट का प्रारूप भी पिछले टूर्नामेंट की तरह ही राउंड रोबिन था यानि सभी 10 टीमों को बाकी की 9 टीमों से लीक मैच खेलने थे।  लीग मैचों में टॉप की 4 टीमों को सीधे अगले चरण यानि सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई करना था। इस टूर्नामेंट में कोई क्वार्टर फाइनल नही था बल्कि लीग मैचों के बाद सीधे सेमी-फाइनल और फाइनल थे।

लीग मैचों का आरंभ 5 अक्टूबर 2023 को हो गया, जब पहले मैच में अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच उद्घाटन मैच हुआ। आखिर लीग मैच 12 नवंबर 2023 को भारत और नीदरलैंड के बीच खेला गया। लीग मैचों की संख्या कुल 45 थी।

लीग मैचों का चरण खत्म होने के बाद भारत, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने पहले चार स्थानों में जगह बनाते हुए सीधे सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

पिछली चैंपियन इंग्लैंड सहित पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, नीदरलैंड और अफगानिस्तान की टीम टूर्नामेंट से बाहर हो गईं। लीग मैचों में भारत ने टेबल को टॉप किया और उसके सबसे अधिक 18 अंक थे। भारत ने लीग मैच में अपने 9 में से से 9 मैच जीते। भारत टूर्नामेंट की एकमात्र टीम रही जिसने कोई भी लीग मैच नही हारा।

दक्षिणी अफ्रीका ने 9 में 7 मैच जीतकर प्वाइंट टेबल मे दूसरे स्थान पर जगह बनाई। ऑस्ट्रेलिया ने भी सात मैच जीते और दो मैच हारे और वह टेबल में तीसरे स्थान पर रहा। न्यूजीलैंड चौथे स्थान पर रहा।

टूर्नामेंट के लीग मैचों की प्वाइंट टेबल
टीममैच जीतेहारेअंकनेट रन रेट
भारत98016+2.570
दक्षिण अफ़्रीका97214+1.261
ऑस्ट्रेलिया97214+0.841
न्यूजीलैंड95410+0.743
पाकिस्तान9458-0.199
अफगानिस्तान9458-0.336
इंग्लैंड9366-0.572
बांग्लादेश9274-1.087
श्रीलंका9274-1.419
नीदरलैंड9264-1.825

सेमीफाइनल मैच

पहला सेमीफाइनल भारत और न्यूजीलैंड के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में 15 नवंबर 2023 को खेला गया। भारत ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए कुल चार विकेट खोकर 397 रन बनाए। भारत की तरफ से विराट कोहली और श्रेयस अय्यर ने सेंचुरी मारी। उसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम डेरिल मेशिल के 134 रनों के बावजूद 327 रन बनाकर ऑल आउट हो गई और भारत ने 70 रन से मैच जीत कर फाइनल में प्रवेश किया।

दूसरा सेमीफाइनल दक्षिणी अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच 16 नवंबर 2023 को कोलकाता के ईडन गार्डन स्टेडियम में खेला गया। दक्षिण अफ्रीका ने पहले बैटिंग करते हुए 49.4 ओवर में कल 212 रन बनाए और वह और ऑल आउट हो गई। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 47.2 ओवर में 7 विकेट पर 2015 रन बनाकर आसानी से मैच जीत लिया। इस तरह फाइनल में भारत और ऑस्ट्रेलिया का आमना सामना होना था।

सेमीफाइनलदिनाँकवेन्यू टीमविजेता
पहला सेमीफाइनल15 नवंबर 2023वानखेड़े स्टेडियम, मुंबईभारत-न्यूजीलैंडभारत
दूसरा सेमीफाइनल16 नवंबर 2023ईडेन गार्डन, कोलकाताऑस्ट्रेलिया-दक्षिण अफ्रीकाऑस्ट्रेलिया

फाइनल

टूर्नामेंट का फाइनल मैच अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 19 नवंबर 2023 को खेला गया। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया भारत ने पहले बैटिंग करते हुए कल 240 रन बनाए और उसकी पूरी टीम 50 ओवर में ऑल आउट हो गई। भारत की तरफ से राहुल ने सबसे अधिक 66 रन के एल राहुल ने बनाए। विराट कोहली ने 54 बनाए। रोहित शर्मा ने 47 रन बनाए। भारत की शुरुआत धुआंधार रही थी लेकिन रोहित शर्मा के आउट होने के बाद भारत की पारी लड़खड़ा गई और उसके सभी खिलाड़ी जल्दी-जल्दी आउट होते गए। कोहली और राहुल केएल राहुल ने पारी को कुछ संभाला लेकिन उनकी पारी बेहद धीमी रही। इसी कारण भारत केवल 240 रन ही बना पाया। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने चार विकेट कोकर 43 ओवर में ही 241 रन बनाकर मैच जीत लिया।

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से ऑस्ट्रेलिया के ओपनर ट्रेविस हेड ने सबसे अधिक 137 रन बनाए। मार्नस लाबुशेन ने 58 रनों का योगदान दिया। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 6 विकेट से हराकर छठी बार वनडे वर्ल्ड कप जीता।

मैचतारीखटीमेंवेन्यूस्कोरपरिणाम
फाइनल19 नवंबर 2023भारत-ऑस्ट्रेलियानरेंद्र मोदी स्टेडियमभारत 240/10 (50 ओवर) ऑस्ट्रेलिया 241/4 (43 ओवर)ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 6 विकेट से हराया

13वें वनडे वर्ल्ड कप की कुछ खास बातें

  • वर्ल्ड कप खेला गया  5 अक्टूबर 2023 से 19 नवंबर 2023 तक
  • मेजबान देश भारत
  • भाग लेने वाले देश 10
  • कुल मैच खेले गए  48
  • प्लेयर ऑफ दि टूर्नामेंट ➩ विराट कोहली
  • सबसे अधिक रन ➩ विराट कोहली (भारत) – 765 रन
  • सबसे अधिक विकेट मोहम्मद शमी (भारत) – 24
  • टूर्नामेंट का चैंपियन ऑस्ट्रेलिया


ये भी पढ़ें
WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles