Sunday, March 3, 2024

2024 के जनवरी माह में कौन-कौन से व्रत त्योहार और महत्वपूर्ण दिवस पड़ेंगे। पूरी सूची इस प्रकार है।
2

2024 के जनवरी माह में कौन-कौन से व्रत त्योहार और महत्वपूर्ण दिवस पड़ेंगे। पूरी सूची इस प्रकार है। (Vrat-Tyohar and important days in January 2024)

साल 2024 की शुरुआत होने वाली है। इस जनवरी में कौन-कौन से व्रत-त्योहार (Vrat-Tyohar and important days in January 2024) आने वाले हैं। इसका सारा विवरण जानें…

नए वर्ष 2024 का आरंभ होने वाला है। जनवरी 2024 का प्रथम माह है। 2024 की जनवरी माह में व्रत-त्योहार और महत्वपूर्ण दिन पड़ेंगे। जनवरी माह में ही मकर संक्रांति जैसा महत्वपूर्ण पर्व होगा तो 26 जनवरी पर गणतंत्र दिवस जैसा राष्ट्रीय पर्व भी होगा। इसके अतिरिक्त इस माह अनेक महत्वपूर्ण विभूतियों की जयंती या पुण्यतिथि भी होंगी।

1 जनवरी 2024 (सोमवार) – पौष कृष्ण पक्ष पंचमी तिथि

ईस्वी नववर्ष आरंभ

ईस्वी कैलेंडर के अनुसरा नव वर्ष का आरंभ

3 जनवरी 2024  (बुधवार) – पौष कृष्ण पक्ष सप्तमी तिथि

मासिक कृष्णाष्टमी

मासिक कृष्णा अष्टमी का व्रत हर माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को किया जाता है। जनवरी माह में कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 3 जनवरी 2024 को शाम 7 :48 पर आरंभ होगी जो कि अगले दिन 4 जनवरी 2024 को रात 10:04 तक रहेगी, इसलिए कृष्णा अष्टमी का पर्व दो दिन मनाया जाएगा। इस दिन भगवान कृष्ण के भक्तगण श्रीकृष्ण की अराधना और व्रत रखते हैं। हर मासिक कृष्णाष्टमी को भगवान कृष्ण का विधिवत पूजन-विधान किया जाता है।

4 जनवरी 2024 (गुरुवार) – पौष कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि

कालाष्टमी

4 जनवरी 2024 को मासिस कृष्ण अष्टमी और कालाष्टमी का पर्व होगा। मासिक कृष्ण अष्टमी को जहां भगवान कृष्ण की पूजा आराधना की जाएगी और व्रत विधान किया जाएगा। वहीं इसी दिन भगवान भैरव की पूजा आराधना भी की जाती है। मान्यता यह है कि भगवान भैरव इसी दिन प्रकट हुए थे। इस दिन भक्तगण भगवान भैरव को मदिरा आदि का भोग लगाते हैं और उनकी विधिवत पूजा करते हैं। कालाष्टमी का पर्व प्रत्येक पौष माह की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है।

7 जनवरी 2024 (रविवार) – पौष कृष्ण पक्ष एकादशी

सफला एकादशी

7 जनवरी को सफला एकादशी है। यह 2024 वर्ष की पहली एकादशी है। सफला एकादशी पौष माह की कृष्ण पक्ष की एकादशी के दिन मनाई जाती है। सफला एकादशी का व्रत करना बेहद प्रभावी माना जाता है। सफाल एकादशी के बारे में मान्यता है कि इस दिन व्रत करने से 1000 अश्वमेध यज्ञ के बराबर फल प्राप्त होता है। इस दिन व्रत धारण करने से सारे कार्य सफल होते हैं। इस दिन भगवान विष्णु की आराधना की जाती है और उनके नाम पर व्रत धारण किया जाता है।

9 जनवरी 2024 (मंगलवार) – पौष कृष्ण पक्ष त्रयोदशी तिथि

मासिक शिवरात्रि, भौम प्रदोष व्रत, प्रदोष व्रत

9 जनवरी को मासिक शिवरात्रि प्रदोष व्रत और भूमि प्रदोष व्रत है। मासिक शिवरात्रि के दिन मासिक शिवरात्रि हर माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है। 9 जनवरी को त्रयोदशी और चतुर्दशी दोनों तिथि पड़ रही है। संध्या समय चतुर्दशी तिथि का आरंभ हो जाएगा और मासिक शिवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा। इस दिन भगवान शिव के नाम पर शिव भक्त व्रत धारण करते हैं।

इसी दिन प्रदोष व्रत भी है, जो भगवान भोलेनाथ के नाम पर ही उनको प्रसन्न करने के लिए धारण किया जाता है। प्रदोष व्रत इस साल का प्रथम प्रदोष व्रत होगा। प्रदोष व्रत भी हर माह की त्रयोदशी तिथि के दिन मनाया जाता है। यह त्रयोदशी तिथि 8 जनवरी को रात्रि 11:58 पर आरंभ होकर 9 जनवरी को रात्रि 10:24 तक रहेगी। इसी कारण 9 जनवरी को मुख्य प्रदोष व्रत होगा।

11 जनवरी 2024 (गुरुवार) – पौष कृष्ण पक्ष अमावस्या

अमावस्या तिथि

11 जनवरी 2024 को अमावस्या तिथि होगी और पौष माह के कृष्ण पक्ष का समापन होगा।

12 जनवरी 2024 (शुक्रवार) – पौष शुक्ल पक्ष प्रतिपदा

स्वामी विवेकानंद जयंती

इस दिन प्रसिद्ध आध्यात्मिक संत महापुरुष स्वामी विवेकानंद की जयंती है।

13 जनवरी 2024 (शनिवार) – पौष शुक्ल पक्ष (द्वितीया)

लोहड़ी पर्व

13 जनवरी को लोहड़ी का पर्व मनाया जाएगा। लोहड़ी का पर्व उत्तर भारत में बेहद हर्षोल्लाह से मनाया जाता है, विशेषकर पंजाब, हरियाणा में यह पर्व बड़े ही उत्साह से मनाया जाता है। यह मकर संक्रांति की पूर्व संध्या का पर्व होता है, जिसमें रात्रि के समय खुले स्थान में आग जलाकर लोग नृत्य करते हैं तथा रेवड़ी, मूंगफली आदि व्यंजन खाकर उत्साहपूर्वक यह त्यौहार मनाते हैं।

14 जनवरी 2024 (रविवार) – पौष शुक्ल पक्ष (तृतीया/चतुर्थी तिथि)

मकर संक्रांति, विनायक चतुर्थी व्रत

विनायक चतुर्थी का पर्व हर महा की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। इस बार 2024 में 14 जनवरी को विनायक चतुर्थी मनाई जाएगी। विनायक चतुर्थी के दिन भगवान श्रीगणेश के नाम पर व्रत रखा जाता है और उनकी पूजा अर्चना की जाती है, जिससे भगवान गणेश प्रसन्न होते हैं और भक्त को विशेष कृपा प्राप्त होती है।

15 जनवरी 2024 (सोमवार) – पौष शुक्ल पक्ष पंचमी तिथि

मकर संक्रांति पर्व, सूर्य देव का मकर में प्रवेश का दिन, थल सेना दिवस, खरमास की समाप्ति

मकर संक्रांति का पर्व पूरे भारत में अलग-अलग नाम से बेहद हर्षोल्लाह से मनाया जाता है। यह पर्व पौष माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इस बार मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी 2024 को पड़ रहा है। मकर संक्रांति के दिन भगवान सूर्य उत्तरायण होते हैं और मकर राशि में प्रवेश करते हैं। इस दिन अनेक मांगलिक कार्य संपन्न किए जाते हैं। लोग तरह-तरह के पकवान अपने घर में बनाते हैं विशेषकर उत्तर भारत के कई क्षेत्रों में खिचड़ी बनाकर भी खाई जाती है। कई जगह पतंग आदि उड़ाई जाती है।

इसी दिन थल सेना दिवस भी मनाया जाता है। इस दिन खरमास की समाप्ति होगी।

16 जनवरी 2024 (मंगवार) – पौष शुक्ल पक्ष षष्ठी तिथि

बिहू पर्व और स्कंद षष्ठी व्रत रखा जाएगा। 

16 जनवरी को बिहू पर्व है। बिहू पर्व असम का बेहद प्रमुख त्यौहार है। यह असम का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है। इस दिन असमिया लोग बिहू नृत्य करते हैं और बिहू लोकगीत गाते हैं। जहाँ-जहाँ पर असम मूल के निवासी रहते हैं, वहाँ पर बेहद उत्साह से बिहू पर्व मनाया जाता है। यह तीन दिन का पर्व होता है, जो बिहू पर्व साल में तीन बार मनाया जाता है। साल का पहला बिहू जनवरी दूसरा बिहू अप्रैल तथा तीसरा बहू बिहू अक्टूबर के महीने में मनाया जाता है जनवरी 16 जनवरी को साल का पहला बिहू पर्व होगा

17 जनवरी 2024 (बुधवार) – पौष शुक्ल पक्ष सप्तमी तिथि

गुरु गोविंद सिंह जयंती

14 जनवरी को सिखों के दसवें और अंतिम गुरु गुरु गोविंद सिंह जी की जयंती है। इस दिन सिक्ख धर्म के अनुयायी बेहद हर्षोल्लास से गुरु गोविंद सिंह की जयंती का पर्व बनाते हैं। गुरुद्वारों में लंगर लगाते हैं और नगर कीर्तन किया जाता है। पंजाब में यह त्यौहार बेहद हर्षोल्लास से मनाया जाता है। उसके अलावा जहाँ-जहाँ पर सिख धर्म की अनुयाई रहते हैं, वहां पर गुरु गोविंद सिंह जयंती का पर्व बेहद हर्षोल्लाह से मनाया जाता है।

18 जनवरी 2024 (गुरुवार) – पौष शुक्ल पक्ष अष्टमी तिथि

मासिक दुर्गाष्टमी व्रत

18 जनवरी को मासिक दुर्गा अष्टमी व्रत होगा। मासिक दुर्गा अष्टमी व्रत हर माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को रखा जाता है। यह 2024 का पहला मासिक दुर्गा अष्टमी व्रत होगा।
20 जनवरी 2024 (शनिवार) – पौष शुक्ल पक्ष दशमी तिथि

मासिक कार्तिगाई पर्व

20 जनवरी को मासिक कार्तिगाई का पर्व होता है। मासिक कार्तिगाई का पर्व हर माह मनाया जाता है। यह विशेष यह पर्व दक्षिण भारत में विशेष रूप से मनाया जाता है। इस दिन भगवान शिव और भगवान मुरूगन की पूजा अर्चना की जाती है। 2024 का पहला मासिक कार्तिगाई 20 जनवरी को होगा। ये पर्व हर माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है।

21 जनवरी 2024 (रविवार) – पौष शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि

पुत्रदा एकादशी व्रत, रोहिणी व्रत

21 जनवरी को पौष पुत्रदा एकादशी व्रत होगा। हिंदू धर्म में एकादशी के दिन रखा गया कोई भी व्रत बेहद फलदायी होता है। पौष मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी को पौष पुत्रदा एकादशी का व्रत रखा जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना की जाती है और उनकी कृपा से संतान प्राप्ति की कामना के लिए पोस्ट पुत्रदा एकादशी का व्रत रखा जाता है। जिन स्त्रियों को संतान नहीं होती है वह पुत्र अथवा संतान की कामना के लिए पौष पुत्रदा एकादशी का व्रत रखती हैं।

22 जनवरी 2024 (सोमवार) – पौष शुक्ल पक्ष द्वादशी तिथि

कूर्म द्वादशी व्रत

जनवरी माह की 22 तारीख को कूर्म द्वादशी व्रत है। यह भगवान विष्णु के कूर्म अवतार से संबंधित व्रत है। जब भगवान विष्णु ने कूर्म के रूप में अवतार लिया था। एकादशी के दिन जिन लोगों ने व्रत रखा है, वह द्वादशी के दिन अपने व्रत का समापन करते हैं और भगवान विष्णु की पूजा आराधना करते हैं।

23 जनवरी 2024 (मंगलवार) – पौष शुक्ल पक्ष त्रयोदशी तिथि

भौम प्रदोष व्रत, सुभाष चंद्र बोस की जयंती 

23 जनवरी को प्रदोष व्रत है. जो भगवान शिव को अत्यंत प्रिय व्रत हैय़ इस दिन भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए शिव के भक्त कोष प्रदोष व्रत रखते हैं। भगवान शिव के इस व्रत से प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों की मनोकामना को पूर्ण करते हैं। 23 जनवरी को ही भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती भी है।

24 जनवरी 2024 (बुधवार) – पौष शुक्ल पक्ष चतुर्दशी तिथि

राष्ट्रीय बालिका दिवस

24 जनवरी का दिन राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाया जाएगा। हर साल 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है जो महिलाओं के अधिकार से संबंधित है। राष्ट्रीय बालिका दिवस का आरंभ 2008 में किया गया था।

25 जनवरी 2024 (गुरुवार) – पौष शुक्ल पक्ष पूर्णिमा तिथि

पौष पूर्णिमा व्रत

पौष माह की पूर्णिमा के दिन व्रत रखने वाले भक्त इस दिन गंगा तथा अन्य पवित्र नदियों का स्नान करते हैं। इस दिन जप-तप-ध्यान-स्नान का विशेष महत्व है।  इस दिन दान पुण्य करने का बेहद विशेष पर प्राप्त होता है।

इसी दिन राष्ट्रीय पर्यटन दिवस राष्ट्रीय और राष्ट्रीय मतदाता दिवस भी है।

26 जनवरी 2024 (शुक्रवार) – माघ कृष्ण पक्ष प्रतिपदा

माघ मास का शुभारंभ, गणतंत्र दिवस

26 जनवरी से माघ मास का शुभ आरंभ हो जाएगा। यह दिन भारत के गणतंत्र दिवस के रूप में भी जाना जाता है। इस दिन भारत की राजधानी नई दिल्ली में विशेष गणतंत्र दिवस परेड निकाली जाती है तथा राज्यों की राजधानियों में भी गणतंत्र दिवस के परेड निकाली जाती है। लोग अपने-अपने घरों तथा सार्वजनिक स्थलों पर झंडा फहराते हैं और राष्ट्रीय गान करते हैं।

28 जनवरी 2024 (रविवार) – माघ कृष्ण पक्ष तृतीया तिथि

लाला लाजपत राय जयंती

लाला लाजपत राय भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के जाने-माने स्वतंत्रता संग्रामी थे, जो पंजाब में जन्मे थे और अंग्रेजों के साथ स्वतंत्रता संग्राम संघर्ष में उन्होंने अपने प्राणों की आहुति दी थी। ये दिन उनकी जयंती के रूप में मनाया जाता है।

29 जनवरी 2024 (सोमवार) – माघ कृष्ण पक्ष चतुर्थी तिथि

लंबोदर संकष्टी चतुर्थी

इस दिन लंबोदर संकष्टी चतुर्थी का व्रत मनाया जाएगा। लंबोदर संकष्टी चतुर्थी व्रत भगवान गणेश से संबंधित व्रत है। इस दिन भगवान गणेश की विशेष पूजा आराधना करना और उनके नाम पर व्रत रखा जाता है। इससे भक्तों पर छाए संकट दूर होते हैं और उनकी मनोकामना पूर्ण होती है।
इसी दिन तिल संकट चौथ व्रत भी है। दिल संकट चौथ व्रत माघ मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन महिलाएं तिल संकट चौथ व्रत रखती हैं और रात्रि के समय चंद्रमा को अर्ध्य देने के बाद व्रत समापन करती हैं।
30 जनवरी 2024 (मंगलावर) – माघ कृष्ण पक्ष पंचमी तिथि

महात्मा गांधी पुण्यतिथि और शहीद दिवस

ये दिन शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन महात्मा गांधी की पुण्यतिथि भी है और उनकी पुण्यतिथि के उपलक्ष में शहीद दिवस मनाया जाता है। इसी दिन कुष्ठ निवारण दिवस भी मनाया जाएगा।

Topic: जनवरी माह के महत्वपूर्ण दिन, जनवरी माह के व्रत-त्योहार, जनवरी 2024 के व्रत-त्योहार, Vra-tyohar in January 2024 in Hindi, January 2024, Vrat-Tyohar, Vrat-Tyohar and important days in January 2024


नई पोस्ट की अपडेट पाने को Follow us on X.com (twitter) https://twitter.com/Mindians_In

नई पोस्ट की अपडेट पाने को Follow us on WhatsApp Channel https://whatsapp.com/channel/Mindians.in


अल्मोड़ा में गोलू देवता का मंदिर जहाँ प्रार्थना नही शिकायत की जाती है।

WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles