Sunday, July 14, 2024

जुलाई माह में कौन-कौन से व्रत त्योहार होंगे, जानिए पूरी लिस्ट।

अप्रेल जून तक के महीने व्रत-उत्सवों की दृष्टि से कुछ विशेष नहीं रहते लेकिन जुलाई के महीने से व्रत-उत्सवों की श्रंखला शुरु हो जाती है, जो आगे मार्च महीने तक चलती रहती है।

जुलाई का महीना हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखता है। यह महीना व्रत, त्योहार और धार्मिक अनुष्ठानों से भरा रहता है। जुलाई 2024 का महीना भी व्रत-त्योहार से भरा हुआ महीना है। जुलाई के महीने में कौन-कौन से व्रत-त्योहार (Vrat-Tyohar in July 2024) आएंगे, एक नजर डालते हैं…

जुलाई 2024 व्रत-त्यौहारों की पूरी सूची

2 जुलाई 2024 योगिनी एकादशी
3 जुलाई 2024 प्रदोष व्रत
4 जुलाई 2024 मासिक शिवरात्रि
5 जुलाई 2024 आषाढ़ अमावस्या
6 जुलाई 2024 आषाढ़ गुप्त नवरात्रि
7 जुलाई 2024 जगन्नाथ रथयात्रा
7 जुलाई 2024 मुहर्रम
9 जुलाई 2024 विनायक चतुर्थी
14 जुलाई 2024 मासिक दुर्गाष्टमी व्रत
16 जुलाई 2024 कर्क संक्रांति
17 जुलाई 2024 देवशयनी एकादशी, चातुर्मास का प्रारंभ, गौरी व्रत शुरू
18 जुलाई 2024 गुरु प्रदोष व्रत
20 जुलाई 2024 कोकिला व्रत, आषाढ़ पूर्णिमा व्रत
21 जुलाई 2024 गुरु पूर्णिमा, व्यास पूर्णिमा, आषाढ़ पूर्णिमा का स्नान और दान
22 जुलाई 2024 सावन माह प्रारंभ, सावन पहला सोमवार, कांवड़ यात्रा आरंभ
23 जुलाई 2024 मंगला गौरी व्रत
24 जुलाई 2024 गजानन संकष्टी चतुर्थी
28 जुलाई 2024 सावन कालाष्टमी
29 जुलाई 2024 दूसरा सावन सोमवार
30 जुलाई 2024 दूसरा मंगला गौरी व्रत
31 जुलाई 2024 कामिका एकादशी व्रत

प्रमुख व्रत और त्योहार (विस्तार से)

योगिनी एकादशी – 2 जुलाई 2024

आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को योगिनी एकादशी मनाई जाती है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा से घर में सुख-समृद्धि और पापों का नाश होता है। इस बार त्रिपुष्कर योग और सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहे हैं।

प्रदोष व्रत – 3 जुलाई 2024

भगवान शिव की आराधना के लिए प्रदोष व्रत रखा जाता है। इस दिन व्रत रखने से सभी प्रकार के दोषों का नाश होता है।

मासिक शिवरात्रि – 4 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि भगवान शिव की पूजा का एक महत्वपूर्ण दिन है। इस दिन शिवलिंग का अभिषेक करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है।

आषाढ़ अमावस्या – 5 जुलाई 2024

इस दिन पवित्र नदियों में स्नान और पितरों का तर्पण, पिंडदान, श्राद्ध कर्म आदि किए जाते हैं।

गुप्त नवरात्रि – 6 जुलाई 2024 से 15 जुलाई 2024

आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि में मां दुर्गा की 10 महाविद्याओं की साधना की जाती है।

जगन्नाथ रथयात्रा – 7 जुलाई 2024

भगवान जगन्नाथ, बलराम और सुभद्रा के साथ रथयात्रा में शामिल होते हैं। यह यात्रा हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखती है।

मुहर्रम – 7 जुलाई 2024

इस्लामी कैलेंडर का पहला महीना मुहर्रम है, जो शोक और याद का समय होता है।

विनायक चतुर्थी – 9 जुलाई 2024

भगवान गणेश की पूजा का विशेष दिन है। इस दिन व्रत रखने से बुद्धि और समृद्धि की प्राप्ति होती है।

मासिक दुर्गाष्टमी व्रत – 14 जुलाई 2024

मां दुर्गा की पूजा का दिन है। इस दिन व्रत रखने से सभी प्रकार की समस्याओं का समाधान होता है।

कर्क संक्रांति – 16 जुलाई 2024

सूर्य के कर्क राशि में प्रवेश का दिन है। इस दिन स्नान, दान और पुण्य कार्यों का महत्व है।

देवशयनी एकादशी, चातुर्मास का प्रारंभ – 17 जुलाई 2024

इस दिन भगवान विष्णु योग निद्रा में चले जाते हैं और चातुर्मास का आरंभ होता है।

गुरु प्रदोष व्रत – 18 जुलाई 2024

इस दिन व्रत रखने से गुरु का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

कोकिला व्रत – 20 जुलाई 2024

मां पार्वती की पूजा का दिन है। इस व्रत को कोयल रूप में मां पार्वती की पूजा के रूप में मनाया जाता है।

गुरु पूर्णिमा, व्यास पूर्णिमा – 21 जुलाई 2024

इस दिन गुरु की पूजा और सम्मान का विशेष महत्व है। वेद व्यासजी की जयंती के रूप में भी मनाया जाता है।

सावन माह प्रारंभ – 22 जुलाई 2024

सावन मास की शुरुआत होती है। इस महीने भगवान शिव की विशेष पूजा और व्रत रखे जाते हैं।

मंगला गौरी व्रत – 23 जुलाई 2024

मां गौरी की पूजा का दिन है। विवाहित महिलाएं इस दिन व्रत रखती हैं।

गजानन संकष्टी चतुर्थी – 24 जुलाई 2024

भगवान गणेश की पूजा का विशेष दिन है।

सावन कालाष्टमी – 28 जुलाई 2024

इस दिन भगवान भैरव की पूजा की जाती है।

दूसरा सावन सोमवार – 29 जुलाई 2024

सावन के दूसरे सोमवार का व्रत रखा जाता है।

दूसरा मंगला गौरी व्रत – 30 जुलाई 2024

इस दिन भी माँ गौरी की पूजा का विशेष महत्व है।

कामिका एकादशी व्रत – 31 जुलाई 2024

इस दिन भगवान विष्णु की पूजा और व्रत से सभी पापों का नाश होता है।

जुलाई 2024 का महीना व्रत और त्योहारों से भरा हुआ है। इस महीने के दौरान कई प्रमुख व्रत और त्योहार मनाए जाएंगे, जो धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण माने जाते हैं। इस महीने भगवान शिव और भगवान विष्णु की पूजा और व्रत का विशेष महत्व है, जिससे भक्तजन आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं।


ये भी पढ़ें..

1 जुलाई से लागू हो रहे हैं नए आपराधिक कानून जानें कौन से कानून हैं और क्या हैं प्रावधान?

WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles