निकट दृष्टिदोष को किस प्रकार के लेंस द्वारा संशोधित किया जाता है ?​

निकट दृष्टिदोष को अवतल लेंस के द्वारा संशोधित किया जाता है।

निकट दृष्टिदोष के निवारण हेतु अवतल लेंस प्रयोग में लाया जाता है। अवतल लेंस एक ऐसा लेंस होता है जो एक अपसारी लेंस होता है। यह आँख पर पड़ने वाली किरणों को फैला देता है, जिससे वस्तु देखने में स्पष्ट दिखती है। अवतल लेंस की एक सतह अंदर की ओर झुकी होती है और अपने किनारे की तुलना में यह लेंस केंद्र में पतला होता है। इस लेंस का प्रयोग चश्मा बनाने में दूरबीन बनाने में किया जाता है।

निकट दृष्टिदोष के निवारण हेतु भी अवतल लेंस को प्रयोग में लाया जाता है। निकट दृष्टिदोष एक ऐसा नेत्र विकार होता है, जिसके कारण दूर की वस्तुएं धुंधली दिखाई देती हैं। इस दृष्टिदोष के कारण दूर की वस्तु का प्रतिबिंब आँख के रेटिना पर सीधे पड़ने की बजाय उसके सामने पड़ता है, जिससे वस्तु धुंधली दिखाई देती है। इस दृष्टिदोष के कारण दूर की वस्तु धुंधली दिखाई देती है और निकट की वस्तुएं सामान्य दिखाई देती हैं।

 

 

Partner website…

miniwebsansar.com

 

ये भी देखें…

अपनी आँखों देखी दुर्घटना का वर्णन कीजिए दुर्घटना के कारणों तथा प्रभाव का वर्णन करते हुए बताइए की आपने पीड़ितों की मदद किस प्रकार की 

हिरोशिमा की घटना विज्ञान का भयानकतम दुरुपयोग है। आपकी दृष्टि में विज्ञान का दुरुपयोग कहाँ-कहाँ और किस तरह से हो रहा है।

Leave a Comment