mindians

हिंदी

Updated on:

माताजी ने पत्र लिखा कौन सा काल है?
0 (0)

काल, पत्र, भुतकाल, माता जी

माताजी ने पत्र लिखा

 भूतकाल 

काल के बारे में और जाने :

काल का अर्थ – समय होता है ।

काल की परिभाषा – क्रिया के जिस रूप से कार्य के होने के समय का पता चले उसे काल कहते हैं ।

काल के भेद – हिन्दी व्याकरण में काल को तीन भेद में बाँटा गया है जो निम्नलिखित है ।

  1. वर्तमानकाल – आज के समय का बोध कराने वाला ।
  2. भूतकाल – बीते समय का बोध कराने वाला ।
  3. भविष्यत काल – आने वाले समय का बोध कराने वाला ।

वर्तमान काल

क्रिया के जिस रूप से यह पता चले की काम अभी हो रहा है , उसे वर्तमान काल कहते हैं ।

जैसे :-

राम अभी – अभी आया है ।

मोहन पढ़ रहा है ।

भूतकाल

भूतकाल दो शब्दों के मेल से बना है – भूत + काल ।

भूत का अर्थ होता है जो बीत गया और काल का अर्थ होता है समय अर्थात जो समय बीत गया है ।

क्रिया के जिस रूप से यह पता चलता है की काम समाप्त हो गया है , उसे भूतकाल कहते हैं ।

जैसे :-

रमेश पटना गया था ।

कल बारिश हो रही थी ।

भविष्यत काल

क्रिया के जिस रूप से क्रिया के आने वाले समय में पूरा होने का पता चले उसे भविष्यत काल कहते हैं ।

जैसे :-

मैं केल शिमला जाऊँगा ।

कल पिता जी आएंगे ।

कुछ और जाने :

गिटार और सितार के बीच संवाद

जन्माष्टमी में कौनसी संधि है?

 

Our Score
Click to rate this post!
[Total: 0 Average: 0]

Leave a Comment