Sunday, July 14, 2024

भारत का सेमीफाइनल तो पक्का हो गया। वह फाइनल जीतकर दूसरी बार टी-20 वर्ल्ड कप चैंपियन बनने वाला है, इसके शुभ संकेत मिलने लगे हैं, जाने कैसे?

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम ने शुक्रवार को बांग्लादेश को हराकर टी20 विश्व कप के सुपर-8 चरण में शानदार शुरुआत की। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने एक असाधारण प्रदर्शन करते हुए हैट्रिक ली, जो टूर्नामेंट में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। कमिंस की यह हैट्रिक ऑस्ट्रेलिया की जीत में निर्णायक साबित हुई।

शनिवार को हुए ऑस्ट्रेलिया अफगानिस्तान के मैंच में भले ही ऑस्ट्रेलिया हार गया हो लेकिन पैट कमिंस दूसरे लगातार मैच में हैटट्रिक लेकर न केवल एक कीर्तिमान स्थापित किया बल्कि भारत के टी-20 वर्ल्ड कप जीतने की संभावनाओं को भी प्रबल किया है।

इस घटना ने एक रोचक संयोग भी उजागर किया है जो भारत के विश्व कप जीतने की संभावनाओं से जुड़ा है।

यह पहली बार नहीं है जब किसी ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज ने टी20 विश्व कप में हैट्रिक ली है। इससे पहले, 2007 में, प्रसिद्ध तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने यह उपलब्धि हासिल की थी।

उल्लेखनीय है कि ब्रेट ली ने भी अपनी हैट्रिक बांग्लादेश के खिलाफ ही ली थी, जो एक 2007 के पहले टी-20 वर्ल्ड कप के ग्रुप स्टेज का मैच था। उस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने बांग्लादेश को 37 गेंदें शेष रहते हुए 9 विकेट से हराया था।

इस संदर्भ में एक दिलचस्प संयोग सामने आया है। जब 2007 में ब्रेट ली ने हैट्रिक ली थी, उसी वर्ष भारत ने अपना पहला टी20 विश्व कप जीता था। भारत ने उस टूर्नामेंट के फाइनल में पाकिस्तान को हराकर चैंपियन का ताज पहना था। अब जब कमिंस ने हैट्रिक ली है, तो क्या यह संयोग फिर से भारत के पक्ष में काम करेगा?

क्या भारत एक बार फिर विश्व चैंपियन बनेगा? (Pat Cummins’ hat-trick is auspicious for India)

टी20 विश्व कप के इतिहास में अब तक कुल सात गेंदबाजों ने हैट्रिक लेने का कारनामा किया है।

2021 के टूर्नामेंट में तीन गेंदबाजों ने यह उपलब्धि हासिल की थी: आयरलैंड के कर्टिस कैंफर ने नीदरलैंड्स के खिलाफ,  श्रीलंका के वानिंदु हसरंगा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ, और दक्षिण अफ्रीका के कगिसो रबाडा ने इंग्लैंड के खिलाफ।

2022 में, संयुक्त अरब अमीरात के कार्तिक मेयप्पन ने श्रीलंका के खिलाफ और आयरलैंड के जोशुआ लिटिल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हैट्रिक ली।

वर्तमान टूर्नामेंट में भारतीय टीम का प्रदर्शन काफी उत्साहजनक रहा है। ग्रुप चरण में, टीम ने चार मैच खेले, जिनमें से तीन में जीत हासिल की। भारत ने अमेरिका, पाकिस्तान और आयरलैंड को हराया, जबकि कनाडा के खिलाफ उनका मैच बारिश के कारण रद्द हो गया। सुपर-8 चरण में भी भारत ने अपने पहले मैच में अफगानिस्तान को हराकर अपना विजयी अभियान जारी रखा है।

इस प्रकार, पैट कमिंस की हैट्रिक न केवल ऑस्ट्रेलिया के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, बल्कि यह भारतीय प्रशंसकों के लिए भी एक आशाजनक संकेत हो सकता है।

क्या इतिहास खुद को दोहराएगा और भारत एक बार फिर टी20 विश्व कप का ताज पहनेगा? यह देखना दिलचस्प होगा कि आने वाले दिनों में टूर्नामेंट कैसे आकार लेता है।

वैसे भारत की टी-20 वर्ल्ड कप जीतने की संभावनाएं मजबूत हुई हैं, क्योंकि अफगानिस्तान से हारकर ऑस्ट्रेलिया की सेमीफाइनल की राह खतरे में पड़ गई है। अगर वो भारत अपना मैच हार गया और अफगानिस्तान बांग्लादेश से अपना मैच जीत गया तो ऑस्ट्रलिया सेमीफाइनल में भी नही पहुँच पाएगा। इससे भारत के रास्ते का एक कांटा दूर हो जाएगा।

हालाँकि भारत चाहेगा कि फाइनल में वह ऑस्ट्रेलिया से ही भिड़े ताकि 19 नवंबर 2023 को वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में मिली हार का बदला ले सके।


ये भी पढ़ें…

गौतम गंभीर के कोच बनने पर इन खिलाड़ियों की तकदीर चमक सकती है।

WhatsApp channel Follow us

संबंधित पोस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Follows us on...

Latest Articles